खेल

Blog single photo

भारतीय टीम की संस्कृति सीनियर या जूनियर वाली नहीं : मयंक अग्रवाल

16/02/2020

सुनील दुबे

हैमिल्टन, 16 फरवरी (हि.स.)। भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल ने रविवार को कहा कि भारतीय टीम की संस्कृति सीनियर या जूनियर वाली नहीं हैबल्कि टीममेट वाली है।  भारत और न्यूजीलैंड एकादश के बीच तीन दिवसीय अभ्यास मैच रविवार को बिना किसी नतीजे के समाप्त हुआ। इस मैच में मयंक ने दूसरी पारी में 81 रनों की बेहतरीन पारी खेली।

मयंक ने दूसरे सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ को लेकर कहा कि शॉ के साथ उनकी अच्छी समझ है। बता दें कि भारतीय टीम के नियमित सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा चोटिल होने के कारण न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला से बाहर हो गए हैं और ऐसी उम्मीद जताई जा रही है कि उनकी जगह पृथ्वी शॉ अग्रवाल के साथ पारी की शुरुआत करेंगे।

आज अपना 29वां जन्मदिन मना रहे अग्रवाल ने संवाददाताओं से कहा कि वैसे तो हमने बहुत सारी क्रिकेट खेली हैइसलिए हमें समझ है। मैं और पृथ्वी दोनों एक-दूसरे को चीजें बता सकते हैं। इस टीम में जूनियर और सीनियर की संस्कृति नहीं है।

उन्होंने कहा कि यह एक अच्छा मैच थायह अच्छा था कि हमें टेस्ट श्रृंखला से पहले तीन दिन का अभ्यास मैच मिला। रन बनाना महत्वपूर्ण हैपहली पारी में विकेट कठिन था और मैं जल्दी आउट हो गया। लेकिन यह अच्छा था कि मुझे दूसरी पारी में एक और मौका मिला।

उन्होंने कहा, यह थोड़ा अलग थामैंने दूसरी पारी में 81 रन बनाए और मैं टेस्ट श्रृंखला में उस आत्मविश्वास को हासिल करना चाहता हूं। बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौर और मैंने उन क्षेत्रों के बारे में बात की है जिनमें मुझे बेहतर होने की जरूरत है। मुझे खुशी है कि मैंने जो भी काम किया हैउसका परिणाम अब अच्छा आ रहा है।,”

भारत और न्यूजीलैंड के बीच दो मैचों की टेस्ट श्रृंखला का पहला मैच 21 फरवरी को वेलिंग्टन में खेला जाएगा।

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top