अंतरराष्ट्रीय

Blog single photo

आसिफ अली जरदारी जवाबदेही को अदालत में किया गया पेश.

11/06/2019

सुप्रभा
इस्लामाबाद, 11 जून (हि.स.)। गिरफ्तारी के एक दिन बाद पाकिस्तान के  पूर्व राष्ट्रपति और पीपीपी के सह-अध्यक्ष आसिफ अली जरदारी को रिमांड पर लेने के लिए जवाबदेही ब्मंयूरो ने उन्हें मंगलवार को इस्लामाबाद स्थित जवाबदेही अदालत में पेश किया। राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) ने अदालत से उन्हें 14 दिन की रिमांड पर लेने की मांग की है। यह जानकारी मीडिया रिपोर्ट से मिली।
समाचार पत्र डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, जरदारी को कोर्ट में पेश करने से पहले तीन डॉक्टरों की टीम ने उनकी मेडिकल जांच की और रिमांड पर लिया जाने के लिए उन्हें फिट पाया। मेडिकल जांच की रिपोर्ट  जवाबदेही अदालत के जज मोहम्मद अरशद मलिक के कक्ष में प्रस्तुत किया गया। कोर्ट में जरदारी मामले की सुनवाई के दौरान जवाबदेही ब्यूरो ने जरदारी की गिरफ्तारी के साक्ष्य भी प्रस्तुत किए।
इससे पहले राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो की 15 सदस्यीय टीम ने  सोमवार को पूर्व राष्ट्रपति  जरदारी को फर्जी खातों के मामले में उनके घर से गिरफ्तार किया था। विदित हो कि इस्लामाबाद उच्च न्यायालय की पीठ ने फर्जी बैंक खातों के मामले में जरदारी और उनकी बहन फरयाल तालपुर की अंतरिम जमानत की  अवधि बढ़ाने की याचिका को खारिज कर दी है। इसके बाद एनएबी हरकत में आया।
इस बीच विपक्ष के नेता शहबाज शरीफ ने हाल में लंदन से लौटने के बाद नेशनल एसेंबली में आरोप लगाया कि चुनचुन कर विपक्षी नेताओं को गिरफ्तार करने और  उन्हें तंग करने के लिए  सरकार और राष्ट्रीय जवाहदेही ब्यूरो आपस में मिले हुए हैं। 
सरकार पर लगाए गए सभी आरोपों को खारिज करते हुए पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा है कि सरकार और राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो के बीच कोई संपर्क नहीं है।

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top