राष्ट्रीय

Blog single photo

पटना के कंकड़बाग थाने में सोनिया गांधी के खिलाफ मामला दर्ज

22/05/2020

-भाजपा के पूर्व मीडिया प्रभारी पंकज कुमार सिंह ने दर्ज कराया मामला

-पीएम केयर फंड को लेकर अविश्वास पैदा कर लोगों को भड़काने का आरोप

राजीव मिश्रा

पटना, 22 मई (हि.स.)। कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के खिलाफ शुक्रवार को पटना में मामला दर्ज किया गया है। भारतीय जनता पार्टी के पूर्व मीडिया प्रभारी पंकज कुमार सिंह ने कंकड़बाग थाने में सोनिया गांधी के खिलाफ आईपीसी की धारा 504, 505 (1)  बी, 505 (2) के तहत मामला दर्ज कराया है। आरोप लगाया गया है कि कांग्रेस पार्टी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से पीएम केयर फंड को लेकर सोनिया गांधी लोगों को भड़का रही हैं। बिना किसी सबूत के पीएम केयर फंड पर सवाल उठाकर लोगों के बीच झूठा प्रचार किया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि को खराब करने की कोशिश।


एफआईआर करने वाले भाजपा के पूर्व मीडिया प्रभारी पंकज सिंह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी पीएम केयर फंड पर सवाल खड़े कर लोगों में अविश्वास पैदा कर रही है और देश में फूट डालने की कोशिश कर रही हैं। यह कांग्रेस पार्टी की पुरानी नीति रही है। कांग्रेस की तरफ इस तरह का भ्रम फैलाती रहती है जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूरे देश को साथ लेकर चल रहे हैं।  

उल्लेखनीय है कि11 मई को कांग्रेस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर लिखा गया था, बीजेपी हर योजना की तरह पीएम केयर फंड में भी गोपनीयता बरकरार रख रही है। क्या पीएम केयर फंड में चंदा देने वाले देशवासियों को इसके उपयोग के बारे में जानकारी नहीं होनी चाहिए। वहीं, एक दूसरे ट्वीट में लिखा गया था कि पीएम केयर नाम से ही स्पष्ट हो रहा है कि ये फंड जनता का नहीं प्रधानमंत्री की केयर के लिए बनाया गया है। अगर बीजेपी सरकार में जनता की केयर करने की इच्छाशक्ति होती तो सड़कों पर प्रवासी मजदूरों के लंबे काफिले ना होते।


दो दिन पहले कर्नाटक में दर्ज हुआ था सोनिया गांधी पर मामला

इससे पहले पीएम केयर्स फंड के खिलाफ कांग्रेस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किए गए एक ट्वीट के संबंध में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के खिलाफ कर्नाटक में एक मामला दर्ज किया गया था। शिवमोगा जिले में सागर कस्बे की पुलिस ने दो दिन पहले बुधवार को प्रवीण के वी नामक व्यक्ति की शिकायत पर मामला दर्ज किया। शिकायत में आरोप लगाया गया है कि कांग्रेस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट में निराधार आरोप लगाकर जनता के बीच अविश्वास पैदा करने का प्रयास किया गया है।

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top