क्षेत्रीय

Blog single photo

भूटान से कोलकाता लाए जा रहे 3.31 करोड़ मूल्य के सोने-चांदी जब्त, छह गिरफ्तार.

12/06/2019

ओम प्रकाश
कोलकाता, 12 जून (हि. स.)। भूटान से तस्करी कर सिलीगुड़ी के रास्ते कोलकाता लाए जा रहे सोने-चांदी की बड़ी खेप को केंद्रीय खुफिया राजस्व ब्यूरो (डीआरआई) की टीम ने पकड़ा है। बुधवार को यह जानकारी डीआरआई पूर्वी क्षेत्रीय उपनिदेशक पार्थ प्रतिम बसु ने दी। उन्होंने बताया कि पुख्ता सूचना के आधार पर गत नौ जून को ही इन लोगों को पकड़ा गया था। 
बसु ने बताया कि  सूचना मिली थी कि नेपाल सीमा से सोने की तस्करी कर कोलकाता लाया जा रहा है। सिलीगुड़ी से एक प्राइवेट बस में सवार होकर चार तस्कर कोलकाता के लिए रवाना हुए थे। डीआरआई की टीम ने उनका पीछा किया और दानकुनी चेकपोस्ट पर बस को चारों ओर से घेर लिया। उसमें तलाशी लेने पर चारों संदिग्ध तस्करों को धर दबोचा गया। उनकी बैग की तलाशी लेने पर उसमें एक-एक किलो वजन के सोने के आठ छड़ बरामद किए गए जिसकी कीमत दो करोड़ 71 लाख 60 हजार रुपये है। इसके बाद इनकी तलाशी लेने पर इनके पास से 73.86 किलो चांदी के गहने भी बरामद हुए जिसमें ब्रेसलेट, कमरबंद, नेकलेस, कान का रिंग और कई अन्य गहने थे। इसकी कीमत 59 लाख 31 हजार रुपये है। इनमें से एक व्यक्ति के पास से ₹24000 रुपये नगदी भी बरामद किए गए। इस तरह से कुल मिलाकर 3.31 करोड़ रुपये के गैर कानूनी सामान बरामद किए गए हैं। इसके अलावा एक लावारिस बैग भी डीआरआई की टीम ने जब्त किया है जिसमें तीन किलो गांजा था। 

पूछताछ में पता चला है कि चांदी को बैंकाक से बागडोगरा हवाई अड्डे पर लाया गया था। इसके बाद वहां से गैरकानूनी तरीके से बाहर निकालकर तस्करी के लिए कोलकाता ले जाया जा रहा था। इन लोगों से पूछताछ के बाद डीआरआई की टीम ने कोलकाता में सॉल्टलेक और बांगुर एवेन्यू के दो ठिकानों पर छापेमारी की जहां सोना तस्करी के मास्टरमाइंड और उसके भतीजे को भी गिरफ्तार किया गया है। इस तरह से इस मामले में गिरफ्तार लोगों की कुल संख्या छह हो गई है। पार्थ प्रतिम ने बताया कि गिरफ्तार किया गया मास्टरमाइंड पिछले पांच सालों से सोना तस्करी में शामिल रहा है और उसे तस्करी के 15 मामलों में पहले भी गिरफ्तार किया गया है। उसकी निशानदेही पर डीआरआई ने विगत पांच सालों में 360 किलो सोना बरामद किया है जिसकी कीमत 108 करोड रुपये है। हालांकि पार्थ प्रतिम ने जांच के लिहाज से इन लोगों का नाम बताने से इनकार कर दिया है। 
हिन्दुस्थान समाचार


News24 office

News24 office

Top