सरोकार

Blog single photo

सुशीला बड़ाइक ने अपनी कर्तव्यनिष्ठा और संवेदनशीलता से रेलवे और मानवता का नाम ऊंचा किया

14/06/2020

विनय कुमार
रांची, 14 जून (हि.स.)। रांची के हटिया स्टेशन पर रविवार की सुबह 06 बजे बेगलोर से गोरखपुर जा रही श्रमिक स्पेशल ट्रेन संख्या 06563 पहुंची। इस ट्रेन से हटिया स्टेशन पर कुछ लोगों को उतरना था। 
इस बीच वहां ड्यूटी पर कार्यरत रेलवे सुरक्षा बल की महिला एएसआई सुशीला बड़ाइक से बेंगलुरु से बरौनी जा रही कोच नंबर 16 की महिला यात्री मेहरुन्निसा ने अनुरोध किया कि उसका चार माह का पुत्र भूखा है। यदि उसके लिए दूध की व्यवस्था हो सके तो अच्छा रहेगा।
सुशीला बड़ाइक ने तुरंत अपनी स्कूटी उठाई और अपने घर जाकर अपने बच्चों के लिए रखे गए दूध को गर्म किया और जल्दी से स्टेशन पहुंची और उस महिला को उनके बच्चे के लिए दूध पहुंचाया। महिला श्रमिक ने उन्हें बहुत-बहुत धन्यवाद दिया। यह यात्री मधुबनी जिले की जमुनिया की रहने वाली है ।
सुशीला बड़ाइक ने बताया कि -"बच्चा बहुत रो रहा था , मैं भी एक मां हूँ, मैं खुद को रोक न सकी। ' इस तरह सुशीला बड़ाइक ने अपनी कर्तव्यनिष्ठा और संवेदनशीलता से रेलवे और मानवता दोनों का नाम ऊंचा किया है। उनकी कर्तव्यनिष्ठा को लोगों ने सेल्यूट किया। 

हिन्दुस्थान समाचार 


 
Top