संजय कुमार
नई दिल्ली, 04 मई (हि.स.)। दिल्ली को अगले तीन-चार दिनों में 480 से 520 मीट्रिक टन ऑक्सीजन मिलनी शुरू हो जाएगा। इस बात की जानकारी एमिकस क्युरी राजशेखर राव ने हाईकोर्ट को दी।

सुनवाई के दौरान राव ने जस्टिस विपिन सांघी की अध्यक्षता वाली बेंच से कहा कि अगले तीन-चार दिनों के दौरान दिल्ली को 480 से 520 मीट्रिक टन ऑक्सीजन मिलना शुरू हो जाएगा और उम्मीद की जा रही है कि अगले 1 हफ्ते के दौरान यह बढ़कर 550 से 600 मीट्रिक टन हो जाएगी। राव ने कहा कि वास्तविक स्थिति का आकलन करने के लिए सप्लायर्स की एक बैठक हुई। धीरे-धीरे सप्लायर ऑक्सीजन की सप्लाई बढ़ा देंगे। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार और दिल्ली सरकार दोनों ऑक्सीजन की सप्लाई बढ़ाने पर काम कर रहे हैं।

राजशेखर राव ने कहा कि ऑक्सीजन के भंडारण की कमी है। तब कोर्ट ने कहा कि ऑक्सीजन का भंडारण पेट्रोलियम पदार्थों की तरह करने की जरूरत है। तब राव ने कहा कि आईएसओ कंटेनर्स ही हो सकते हैं क्योंकि भंडारण के लिए डिपो बनाने में काफी समय लगेगा। राव ने कहा कि जिन्हें तत्काल जरूरत हो उन्हें ऑक्सीजन दिया जाए।

राव ने कहा कि कल रिफिलर्स के साथ उनकी बैठक हुई थी जिसमें आम लोगों को रिफिलिंग करने के मसले पर चर्चा हुई। उन्होंने कहा कि रिफिलिंग सेंटर्स पर कानून व्यवस्था की स्थिति पैदा न हो इसके लिए पुलिस की तैनाती जरूरी है। राव ने कहा कि लोगों को भी शिक्षित करने की जरूरत है। राव ने कहा कि कल एक व्यक्ति उनके पास हाइड्रोजन सिलेंडर लेकर रिफिलिंग करवाने पहुंचा। राव ने कहा कि हमने अपने साथियों से कहा है कि लोगों में जागरुकता पैदा करें ताकि वे सिलेंडर और दवाइयों की जमाखोरी नहीं करें। एक सिलेंडर रखने से भी लोगों की मौत हो रही है। तब कोर्ट ने कहा कि इसके लिए एक बैंक स्थापित हो सकता है। तब राव ने कहा कि ये बैंक सेना और अर्धसैन्य बलों के हाथों में दिए जा सकते हैं। तब कोर्ट ने कहा कि हम ब्लड बैंक की तरह बात कर रहे हैं ताकि वहां सुरक्षा हो और भरोसा भी। तब राव ने कहा कि वहां ऑक्सीजन सिलेंडर भी सुरक्षित रहेगा।

हिन्दुस्थान समाचार
You Can Share It :