क्षेत्रीय

Blog single photo

जयपुर: पथराव-आगजनी के बाद गलतागेट में तनावपूर्ण शांति, 10 थाना क्षेत्रों में इंटरनेट बंद

13/08/2019

- पांच लोगों को पुलिस ने लिया हिरासत में, पचास से अधिक लोग नामजद
- मौके पर पांच दमकल सहित भारी पुलिस बल तैनात

दिनेश सैनी
जयपुर, 13 अगस्त (हि.स)। राजधानी जयपुर के ईदगाह इलाके में सोमवार रात को एक बस पर पथराव, तोड़फोड़ एवं आगजनी की घटना के बाद मंगलवार को शांति बनी रही। इस मामले में पांच लोगों को हिरासत में लिया गया तथा पचास से अधिक लोगों को नामजद किया गया है। पुलिस के अनुसार सोमवार रात को हुए उपद्रव के बाद देर रात से स्थिति नियंत्रण में है। हालांकि इलाके में तनाव के मद्देनजर अतिरिक्त सुरक्षा बल तैनात है और शांति बनी हुई है।

सीएलजी सदस्य व शांति समिति के सदस्यों के साथ मिलकर पुलिस मंगलवार अलसुबह चार बजे तक दोनों पक्षों के लोगों को समझाती रही। फिलहाल मौके पर भारी पुलिस बल तैनात है और तनावपूर्ण शांति बरकरार है। इस मामले में पुलिस उपद्रवियों की पहचान करने में जुटी है। देर रात उपजे विवाद को लेकर दो मामले दर्ज हुए हैं। शहर के दस थाना इलाकों में फिलहाल इंटरनेट बंद किया गया है। ताकि किसी भी प्रकार की अपवाह को फैलने से रोका जा सके। इससे पहले शास्त्रीनगर में बालिका से रेप के मामले में उपजे विवाद के बाद पांच दिन तक इंटरनेट को बंद किया गया था। वहीं उपद्रव के दौरान हुए नुकसान को लेकर आंकलन किया जाएगा। 

गौरतलब है कि सोमवार रात गलतागेट के दिल्ली रोड पर दोनों पक्ष एक बार फिर आमने-सामने हो गए थे।  दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर जमकर पथराव किया और कई वाहनों में तोडफ़ोड कर आग लगा दी। पथराव में करीब दो दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए, घायलों में आधा दर्जन पुलिसकर्मी भी शामिल है। आग लगने की सूचना पर मौके पर छह दमकल भेजी गई। उपद्रवियों ने एक बाइक, ट्रक व कार में आग लगा दी। दमकलों ने आग पर काबू पाया। 

उपद्रवियों पर काबू पाने के लिए पुलिसबल ने आंसू गैस के गोले छोड़े और बल प्रयोग कर भीड़ को खदेड़ा। इस दौरान हाईवे पर लंबा जाम भी लगा रहा। रामगंज, ट्रांसपोर्टनगर और गलतागेट क्षेत्र में भारी पुलिस जाब्ता तैनात है। रामगंज, ट्रांसपोर्टनगर, गलतागेट,सुभाषचौक, माणकचौक,कोतवाली, शास्त्रीनगर, भट्टाबस्ती,संजय सर्किल, ब्रह्मपुरी सहित दस थानों में इंटरनेट बंद है।

झुंड में आए उपद्रवियों ने घेराबंदी कर लूपपाट की
वहीं इस घटना में शिकार हुए एक पीड़ित ने बताया कि वह मंदिर से दर्शन कर वापस घर लौट रहा था। तभी ईदगाह के पास झुंड में आए उपद्रवियों ने उसे घेर कर रोका। उपद्रवियों ने उस पर लाठी और डंडों से जानलेवा हमला किया और उसका मोबाइल, पर्स, सोने की चेन व अन्य सामान लूट लिया। इसके बाद उपद्रवियों ने उसकी बाइक की तोड़फोड़ की और उसे लहूलुहान अवस्था में सड़क पर गिरा दिया। जैसे-तैसे पीड़ित उपद्रवियों के चंगुल से मुक्त होकर वह पुलिसकर्मियों तक पहुंचा। पीड़ित को लहूलुहान अवस्था में देख पुलिसकर्मी उसे तुरंत अस्पताल ले गए। इसके साथ ही अनेक चौपहिया वाहनों में भी तोड़फोड़ कर उपद्रवियों द्वारा सामान लूटा गया।

हिन्दुस्थान समाचार 


 
Top