मई में ऑटोमोबाइल कंपनियों को तगड़ा झटका, मारुति की बिक्री 71 फीसदी घटी


Blog single photo

प्रजेश शंकर

नई दिल्ली, 01 जून (हि.स.)। कोविड-19 की दूसरी लहर में संक्रमण बढ़ने और लॉकडाउन की वजह से ऑटोमोबाइल कंपनियों को तगड़ा झटका लगा है। देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारूति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) की कुल बिक्री अप्रैल की तुलना में मई महीने में 71 फीसदी लुढ़क कर 46,555 इकाई रह गई। कंपनी ने अप्रैल महीने में 1,59,691 वाहन बेचे थे। टाटा मोटर्स को 38 फीसदी का नुकसान हुआ है।

एमएसआई ने मंगलवार को जारी एक बयान में कहा कि मई, 2021 में उसकी कुल बिक्री 46,555 इकाई रही, जबकि अप्रैल में कुल बिक्री 159,691 इकाई यानी 70.85 फीसदी ज्यादा रही थी। कंपनी ने मई 2020 में 18,539 वाहन बेचे थे। मारुति ने बताया कि मई में हुई कुल बिक्री में घरेलू बिक्री का आंकड़ा 33771 इकाई का रहा। 

कंपनी के मुताबिक एक्सपोर्ट हुई गाड़ियों का आंकड़ा 11,262 इकाई रहा। मारुति की पैसेंजर व्हीकल्स की घरेलू बिक्री 32903 इकाई रही, जबकि मिनी और कॉम्पैक्ट कारों की बिक्री मई 2021 में 25103 इकाई रही। मारुति ने मिड साइज सेडान सियाज की 349 यूनिट बेचे जबकि यूटिलिटी व्हीकल्स की बिक्री 6355 वाहनों की रही जबकि वैन की बिक्री 1096 इकाई की रही।

टाटा मोटर्स ने कहा कि मई में उसकी कुल घरेलू बिक्री अप्रैल की तुलना में 38 फीसदी घटकर 24,552 इकाई रह गई। कंपनी ने अप्रैल महीने में 39,530 वाहन बेचे थे, जबकि पिछले साल मई में 4,418 वाहनों की बिक्री हुई थी। टाटा मोटर्स ने कहा कि घरेलू बाजार में उसके यात्री वाहनों की बिक्री मई में 15,181 इकाई रही, जो इस साल अप्रैल की 25,095 यूनिट की बिक्री से 40 फीसदी कम है।

इसके अलावा महिन्द्रा एंड महिन्द्रा की मई महीने में कुल पैसेंजर व्हीकल 8004 इकाई की बिक्री हुई है। कंपनी के कहा कि अप्रैल 2021 के मुकाबले पैसेंजर व्हीकल्स की बिक्री 56 फीसदी गिरी। कंपनी ने जारी बयान में कहा कि पिछले साल मई में लॉकडाउन होने की वजह से मई 2020 और मई 2021 के बिक्री आंकड़ों की तुलना नहीं हो सकती है। महिन्द्रा एंड महिन्द्रा के कमर्शियल व्हीकल सेगमेंट में बिक्री मई, 2021 में 9443 इकाई रही।

उल्लेखनीय है कि कोविड-19 संक्रमण की दूसरी लहर और लॉकडाउन से विभिन्न राज्यों में वाहनों की आपूर्ति प्रभावित होने का असर इन कंपनियों की बिक्री पर पड़ा है। हालांकि मारुति ने औद्योगिक इस्तेमाल वाले ऑक्सीजन को चिकित्सा इस्तेमाल के लिए स्थानांतरित करने को एक से 16 मई तक अपना उत्पादन भी बंद किया था।  

हिन्दुस्थान समाचार 

You Can Share It :