राष्ट्रीय

Blog single photo

छात्र नेता के समर्थकों ने दर्जनों वाहनों को किया क्षतिग्रस्त, कई जगह आगजनी

09/10/2019

उग्र समर्थकों ने पुलिस की कई गाड़ियों को भी किया क्षतिग्रस्त, कई पुलिसकर्मी घायल 
रोडवेज पुलिस चौकी में तोड़फोड़, कुर्सियों को बाहर निकाल कर आग लगाई 
रोडवेज परिसर में यात्रियों से मारपीट, दर्जन भर बसों के शीशे तोड़े 
घटनास्थल और अस्पताल में भारी फोर्स तैनात, स्थिति तनावपूर्ण 

महेंद्र तिवारी 
बस्ती, 09 अक्टूबर (हि.स.)। छात्र नेता कबीर तिवारी की हत्या के बाद समर्थकों का प्रदर्शन बुधवार को हिंसक हो गया है। समर्थकों ने रोडवेज की बसों में तोड़फोड़ की और पुलिस के कई वाहनों को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। इसके अलावा कई जगह आगजनी भी की गई है 

जिले के एपीएन पीजी कालेज छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष आदित्य नारायण तिवारी 'कबीर' को बुधवार को शहर के मालवीय रोड स्थित अग्रवाल भवन परिसर में गोली मार दी गई। गोली लगने से गंभीर रूप से घायल कबीर को जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां स्थिति नाजुक देख चिकित्सक ने प्राथमिक उपचार के बाद लखनऊ रेफर कर दिया। लखनऊ ले जाते समय रास्ते में कबीर की मौत हो गई। आक्रोशित भाजपा नेताओं व आम लोगों ने  घटना के लिए पुलिस को जिम्‍मेदार बताते हुए जिला अस्पताल के पास जाम लगा दिया। जिला अस्पताल मार्ग को सुरक्षा की दृष्टि से बंद कर दिया गया। घटना में एक युवक मौके पर ही पकड़ा गया जबकि दूसरा भागते समय पिकौरा शिव गुलाम मोहल्ले में एक व्यक्ति के घर में घुस गया, जिसे भीड़ ने दबोच लिया।   

शहर में चौकसी बढ़ाने, पूरे शहर को हाई अलर्ट पर रखने और बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किये जाने के बावजूद पूर्व छात्रनेता कबीर तिवारी की हत्‍या से भड़के समर्थक दोपहर बाद सड़कों पर उतर आए। पोस्टमार्टम के लिए शव लेकर जा रही एम्बुलेंस को समर्थकों ने रोडवेज तिराहे पर रोक लिया। रोडवेज पुलिस चौकी में तोड़फोड़ करने के साथ ही कुर्सियों को बाहर निकाल कर आग लगा दी। रोडवेज परिसर में कुछ यात्रियों से मारपीट भी की और दर्जन भर बसों के शीशे तोड़ दिए। समर्थकों ने अपना गुस्सा सीसीटीवी कैमरों पर भी उतारा। उग्र समर्थकों ने पुलिस की कई गाड़ियों को भी क्षतिग्रस्त कर दिया इस घटना में कई पुलिसकर्मियों की भी चोट आई है। इस पूरे घटनाक्रम के दौरान पुलिस बैकफुट पर नज़र आई। बस्‍ती में अभी भी स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। 

कोतवाली थानातंर्गत मालवीय रोड पर रंजीत चौराहे के पास एक प्लाट था जिस पर कुछ निर्माण कार्य चल रहा था। बुधवार सुबह करीब दस बजे छात्र नेता कबीर तिवारी अकेले ही प्लाट पर जा पहुंचा। तभी वहां बाइक सवार दो हमलावर पहुंचे और पिस्टल से फायर झोंक दिया। गोली हाथ और सीने में लगी। इस घटना को कुछ महीने पहले एपीएन पीजी कालेज के सामने हुई फायरिंग से भी जोड़कर देखा जा रहा है। शहर में ताबड़तोड़ फायरिंग से अफरा-तफरी मच गई। घटनास्थल और अस्पताल में भारी फोर्स तैनात कर दी गई है। इस घटना को लेकर कोतवाली पहुंचे सांसद हरीश द्विवेदी और कई विधायकों व पुलिस प्रशासन के वार्ता के बाद छात्र नेता का शव पोस्टमार्टम के लिये भेजा जा सका। 

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top