क्षेत्रीय

Blog single photo

कोलकाता में 4.38 लाख के जाली नोटों के साथ एसटीएफ के हत्थे चढ़ा तस्कर

08/06/2019

ओम प्रकाश

कोलकाता, 08 जून (हि.स.)। कोलकाता में एक बार फिर पुलिस के स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) को जाली नोट तस्करी की बड़ी खेप नाकाम करने में सफलता मिली है।
शुक्रवार देर रात सियालदह स्टेशन के पास से एक जाली नोट तस्कर को गिरफ्तार किया गया है। उसका नाम इसाब अली उर्फ कालू (31) है। वह मूल रूप से मालदा जिले के कालियाचक थाना अंतर्गत महेंद्र मंडल पाड़ा का रहने वाला कालू चार लाख 38 हजार का जाली नोट लेकर स्टेशन पर उतरा था और वहां से जैसे ही बाहर निकला, उसे स्टेशन से सटे बिग बाजार के पास एसटीएफ की टीम ने धर दबोचा। पूछताछ में पता चला है कि वह मालदा से कोलकाता के बीच सक्रिय जाली नोट तस्करी गिरोह का सदस्य है।
इस बारे में शनिवार सुबह एसटीएफ के संयुक्त आयुक्त शुभंकर सिंहा सरकार ने जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सीमा पार से जाली नोटों की तस्करी कोलकाता में होने की गुप्त सूचना मिल गई थी। इसके बाद पूरे क्षेत्र पर निगरानी रखी गई थी। जाली नोट तस्कर के मालदा जिले से सियालदह स्टेशन पर पहुंचने की जानकारी मिली थी। इसके बाद सादी में एसटीएफ की टीम सियालदह स्टेशन के बाहर मौजूद हो गई थी। इसके अलावा तस्कर के पीछे भी एक टीम लगातार लगी हुई थी। जैसे ही रात 9:10 बजे के करीब वह स्टेशन से बाहर निकला, उसे बिग बाजार के पास घेरकर धर दबोचा गया। उसके पास एक बैग मौजूद था जिसकी तलाशी लेने पर उसमें से 2000 रुपये के 219 जाली नोट बरामद हुए। इसका मौद्रिक मूल्य 4.38 लाख रुपये है। उसे नजदीकी इंटाली थाने में ले जाकर मैराथन पूछताछ शुरू की गई। तब उसने बताया कि वह मालदा जिले में सीमा से सटे बांग्लादेश से जाली नोट की खेप को लेकर आया था। कोलकाता में वह इसे किसी और के हवाले करने वाला था। उसके कबूलनामे के बाद रात 11:30 बजे के करीब उसे गिरफ्तार किया गया। 

एसटीएफ ने उसके खिलाफ भारतीय दंड विधान की धारा 120 बी, 489 बी और 489 सी के तहत मामला दर्ज कर कानूनी कार्रवाई शुरू की गई है। उसने बताया है कि मालदा और कोलकाता में उसके गिरोह के कई लोग सक्रिय हैं। उससे पूछताछ कर पुलिस इन सभी लोगों के बारे में पता लगाने में जुट गई है। 
हिन्दुस्थान समाचार


 
Top