क्षेत्रीय

Blog single photo

मुखर्जी नगर बवाल: प्रदर्शन कर रहे लोग फिर हुए उग्र

18/06/2019

अश्वनी शर्मा
नई दिल्ली, 18 जून (हि.स.)। उत्तर पश्चिमी जिले के मुखर्जी नगर इलाके में ग्रामीण सेवा के चालक और पुलिसकर्मियों के बीच हुई मारपीट का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा। घटना के बाद से ही सिख समुदाय और पुलिस के बीच तनाव का माहौल बना हुआ है। बिगड़ते माहौल को देखकर मुखर्जी नगर इलाके में काफी संख्या में पैरामिलिट्री फोर्स की तैनाती की गई है। इलाके में शांति बनाए रखने के लिए फोर्स के द्वारा फ्लैग मार्च भी निकाला जा रहा है लेकिन सोमवार देर रात प्रदर्शन कर रहे लोग दोबारा उग्र हो गए। उन्होंने सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान मनजिंदर सिंह सिरसा के साथ धक्का-मुक्की की। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंचे और लोगों समझा-बुझाकर कर शांत किया। प्रदर्शन कर रहे लोगों का कहना है कि 15 से ज्यादा पुलिसकर्मियों ने सरबजीत सिंह और उनके नाबालिग बेटे को सरेराह पीटा। मंगलवार सुबह भी हंगामा करने वाले लोगों ने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते हुए उन्हें गिरफ्तार करने और बर्खास्त करने की मांग की।
ऐसे हुई थी घटना 
रविवार शाम मुखर्जी नगर थाना इलाके में एक सिख ग्रामीण सेवा चालक को दिल्ली पुलिस के कई जवानों ने मिल कर पीटा था। चालक सरबजीत सिंह मुखर्जी नगर इलाके में ग्रामीण सेवा चलाता है। किसी बात को लेकर पुलिसकर्मी और सरबजीत के बीच तीखी बहस हुई। इसी बीच सरबजीत ने तलवार निकाल ली।
क्या हुआ अब तक:-
ड्राइवर सरबजीत से मिलने का सिलसिला 
बवाल की जानकारी मिलते ही सिख समुदाय जहां ड्राइवर के साथ आ गया, वहीं मुख्यमंत्री समेत अन्य नेताओं का उसके घर जाने और बयान देने का सिलसिला शुरू हुआ। घटना की निंदा करते हुए कई नेताओं और संगठनों ने पुलिस के खिलाफ मोर्चा खोला।  
सिरसा ने कमिश्नर से की मुलाकात
दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने सोमवार शाम दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक से मुलाकात की। इस दौरान उनके साथ इस मामले में पुलिस की पिटाई से घायल हुए ड्राइवर सरबजीत को भी लेकर पुलिस मुख्यालय आए। ड्राइवर ने पुलिस कमिश्नर से मुलाकात के दौरान लिखित शिकायत देकर मारपीट करने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।
गृह मंत्रालय ने मांगी रिपोर्ट
वहीं इस पूरे मामले को लेकर गृह मंत्रालय ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। रविवार शाम से शुरू हुए इस इस पूरे घटनाक्रम की रिपोर्ट और अबतक की पुलिस कार्रवाई का ब्यौरा गृह मंत्रालय को भेजा गया है और विस्तार से इस मामले की जांच रिपोर्ट तैयार की जा रही है। फिलहाल पूरे मामले की जांच क्राइम ब्रांच कर रही है।
 
हिन्दुस्थान समाचार


 
Top