क्षेत्रीय

Blog single photo

भोपाल पहुंचे सिंधिया का बयान, राहुल के इस्तीफे के बाद कांग्रेस संकट में

11/07/2019

नेहा पांडेय
भोपाल, 11 जुलाई (हि.स.)। पूर्व सांसद और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया लोकसभा चुनाव के बाद पहली बार गुरुवार सुबह भोपाल पहुंचे। भोपाल विमानतल पर सुबह दस बजे जैसे ही ज्योतिरादित्य सिंधिया पहुंचे, वहां पहले से मौजूद उनके समर्थकों ने उनका जोरदार स्वागत किया। सिंधिया के स्वागत के लिए कमलनाथ कैबिनेट के कई मंत्री भी एयरपोर्ट पहुंचे। यहां से सिंधिया सीधे विधानसभा जाऐंगे। विधानसभा की कार्यवाही देखने के बाद सिंधिया सीएम निवास पर कमलनाथ के साथ लंच पर मुलाकात करेंगे। सियासी नजरिए से दोनों की मुलाकात को बेहद खास माना जा रहा है। दोनों नेताओं की बीच होने वाली मुलाकात से प्रदेश की सियासत गर्मा गई है।
 
एयरपोर्ट से बाहर निकलते समय सिंधिया ने मीडिया के सवालों का जवाब दिया। प्रदेश अध्यक्ष और राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए उनके नाम की चल रही चर्चाओं पर सिंधिया ने कहा कि  राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए एक ऊर्जावान व्यक्ति की आवश्यकता है। पार्टी जिसके नाम पर भी फैसला लेगी, वह सही होगा। सिंधिया ने कहा कि कांग्रेस को मजबूत करना हमारा लक्ष्य होना चाहिए, राहुल गांधी के इस्तीफे के निर्णय के बाद संकट की घड़ी है और ऐसे समय में हम सबको एक साथ होकर काम करना होगा। 

गोवा और कर्नाटक में मचे सियासी घमासान पर सिंधिया ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा है कि भाजपा अगर चुनाव सीधे तरीके से नहीं जीत सकती तो दूसरे तरीके से कैसे जीता जाए, इस पर उसका ध्यान ज्यादा रहता है। मध्य प्रदेश में भी भाजपा नेताओं द्वारा लगातार सरकार गिराने के दावों पर सिंधिया ने कहा कि भाजपा की इच्छाएं मुंगेरीलाल के हसीन सपने की तरह है। जब मध्य प्रदेश की जनता ने कांग्रेस को चुना है तो उसे कैसे हटा सकते हैं। अपने मप्र दौरे को लेकर सिंधिया ने कहा कि प्रदेश और देश के विकास के साथ जनआकांक्षाओं पर आज चर्चा होगी। माना जा रहा है कि मुलाकात के दौरान कमलनाथ और सिंधिया संगठन में बदलाव और निगम मंडलों में होने वाली नियुक्तियों पर चर्चा कर सकते हैं। 

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top