चुनावी विशेष

Blog single photo

चित्तौड़गढ़ से सीपी जोशी विजयी, कांग्रेस के ईडवा को हराया

23/05/2019

चित्तौड़गढ़ से सीपी जोशी विजयी, कांग्रेस के ईडवा को हराया

चित्तौड़गढ़, 23 मई (हि.स.) । लोकसभा चुनाव की गुरुवार को मतगणना हुई। चित्तौड़गढ़ से मौजूदा सांसद सीपी जोशी ने कांग्रेस उम्मीदवार गोपालसिंह ईडवा को पौने छह लाख मतों से पराजित किया। 
भाजपा उम्मीदवार जोशी को नौ लाख 79 हजार 945 मत मिले। कांग्रेस के ईडवा को चार लाख, पांच हजार 681 मत प्राप्त हुए। भाजपा उम्मीदवार जोशी पांच लाख 74 हजार 264 मतों से विजयी घोषित किए गए। 
चित्तौडगढ़ सीट पर मतगणनास्थल मेजर नटवरसिंह शक्तावत राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में सुरक्षा के कड़े प्रबंध थे। गुरुवार सुबह आठ बजे से मतगणना शुरू हुई। 
कांग्रेस के गोपालसिंह को 4,05681 मत प्राप्त हुए। बसपा के जगदीशचन्द्र शर्मा को 13,458, राधा भंडारी को 9923, गोपाल धाकड़ 2791, जयप्रकाश रेगर 4218, प्रकाशचन्द्र मीणा 5393, मांगीलाल मीणा 2314, गुलाब सहलोत को 4025, शमशुद्दीन 9027 मत प्राप्त हुए। साथ ही नोटा के पक्ष में 17,513 मत पड़े।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने जोशी को जीत का प्रमाण-पत्र प्रदान किया। इस दौरान पूर्व यूडीएच मंत्री श्रीचंद कृपलानी, विधायक चन्द्रभानसिंह, अर्जुनलाल जीनगर, धर्मनारायण जोशी, पूर्व विधायक सुरेश धाकड़, भाजपा जिलाध्यक्ष रतनलाल गाडरी आदि भी मौजूद थे। 


जीतने वोटों से जीते जोशी, उतने वोट भी नहीं लाए ईडवा

जोशी को मिले प्रचंड बहुमत का आंकलन इसी बात से लगाया जा सकता है कि जितने मत गोविंदसिंह ईडवा को मिले उससे भी एक लाख अधिक मत सीपी जोशी लेकर आए। जानकारी के अनुसार चित्तौडग़ढ़ सीट पर करीब 20 लाख मतदाता है। इसमें से करीब 14 लाख 54 हजार 488 ने  मतदान किया व 72 प्रतिशत से अधिक मतदान हुआ था। भाजपा प्रत्याशी 9 लाख 79 हजार 945 मत प्राप्त हुए। वहीं कांग्रेस प्रत्याशी गोपालसिंह ईडवा को 4 लाख, 5 हजार 681 मत प्राप्त हुए। इस प्रकार भाजपा प्रत्याशी सीपी जोशी 5 लाख 74 हजार 264 मतों से विजयी घोषित किए गए।

कुल मतदान में से करीब 67 प्रतिशत मत तो अकेले जोशी ही ले गए। इससे स्पष्ट है कि जोशी को कितनला प्रचंड बहुमत मिला। आम जनता व सभी वर्गों के लोग जोशी के साथ थे। जानकारी में सामने आया कि अकेले जोशी को 67.37 प्रतिशत मत प्राप्त हुए। वहीं कांग्रेस प्रत्याशी ईडवा को 27.89 मत प्राप्त हुए जो कुल से 30 प्रतिशत अधिक है। 
भाजपा व कांग्रेस को छोड़ सभी उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई। सभी 8 प्रत्याशियों से नोटा आगे रहा था। कुल मतदान में से 1.10 प्रतिशत मतदाताओं ने नोटा का बटन दबाया है। नोटा पर 17 हजार 513 मत गिरे थे। नोटा से बसपा के जगदीशचन्द्र शर्मा, राधा भंडारी, गोपाल धाकड़, जयप्रकाश रेगर, प्रकाशचन्द्र मीणा, मांगीलाल मीणा, गुलाब सहलोत व शमशुद्दीन पीछे रहे हैं। 
हिन्दुस्थान समाचार /अखिल/ ईश्वर


 
Top