अंतरराष्ट्रीय

Blog single photo

सिंगापुर में जालसाजी के आरोप में भारतीय मूल के बैंकर को 13 साल की जेल

05/07/2019

सुप्रभा सक्सेना
पुलाउ-ओ-जोंग (सिंगापुर), 05 जुलाई (हि.स.)। सिंगापुर में गुरुवार को भारतीय मूल के बैंकर को धोखाधड़ी और जालसाजी करने के आरोप में 13 साल की सजा का ऐलान किया गया है। उस पर 20 धोखाधड़ी और जालसाजी के मामले दर्ज हैं। इसके अलावा कम्पयूटर दुरुपयोग अधिनियम के तहत उसके खिलाफ 30 अन्य मामले भी दर्ज किए गए हैं।

समाचार पत्र स्ट्रेट टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक काले जगदीश पुरुषोत्तम (43) ने बार्कलेस बैंक के ग्राहकों के खाते से एक करोड़ अमेरिकी डॉलर का गबन किया।धोखाधड़ी करने के बाद कानूनी कार्रवाई से बचने के लिए  उसने पैसे लौटाने के लिए तीन ग्राहकों के नकली हस्ताक्षर कर एक करोड़ डॉलर का हस्तान्तरण  किया। इसके बाद उसने 81 अनाधिकृत लेनदेन किए। इतना ही नहीं उसने अपने ग्राहकों के नाम से खाता खोलने और ऋण लेने के लिए फर्जी दस्तावेज भी बबनवाए। इस तरह उसने अपने छह ग्राहकों के नाम पर 162 ऋण लिए।

काले ने अपने ग्राहकों की क्हुई क्षति की भरपाई के लिए अवैध तरीके से शेयर और विदेशी मुद्रा विनिमय का भी धंधा किया। अदालत ने इन सभी आरोपों पर गौर करते हुए उसे 13 साल की सजा सुनाई।

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top