राम जन्मभूमि

Blog single photo

राम कथा कुंज में तैयार हैं भगवान प्रभु श्रीराम के बालस्वरूप से लेकर सीता हरण तक मूर्तियां

05/08/2020

पवन पाण्डेय
अयोध्या, 05 अगस्त (हि.स.)। श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के द्वारा आयोजित श्रीराम मंदिर भूमि पूजन आज संपन्न हो जाएगा। जिसके बाद से मंदिर का निर्माण प्रारंभ माना जाएगा। मंदिर में लगने वाली भगवान प्रभु श्रीराम के बालस्वरूप से लेकर सीता हरण तक मूर्तियां भी तैयार हैं। जिसे वर्षों से कारीगर प्रतिदिन बना रहे हैं। रामसेवक पुरम के राम कथा कुंज में भगवान श्री राम के बाल स्वरूप से लेकर राज्याभिषेक तक मूर्तियों का निर्माण किया जा चुका है। जो राम मंदिर परिसर क्षेत्र में यह मूर्तियां स्थापित होंगी। जिसमें भगवान श्री राम का बाल स्वरूप से लेकर सीता हरण तक की मूर्तियां 67 एकड़ में स्थानों में से लगाई जाएगी। जिससे दर्शन करने वाले राम भक्तों को भगवान प्रभु श्री राम के बालस्वरूप से लेकर सीता हरण तक की जानकारियां इन मूर्तियों के माध्यम से प्राप्त हो सके।

मूर्ति कलाकार रंजीत मंडल ने बताया कि 05 अगस्त को होने वाले भूमि पूजन कार्यक्रम से वह बहुत ही खुश व प्रसन्न है कि उनके द्वारा हाथों से बनाई गई मूर्तियों का अब राम मंदिर परिसर क्षेत्र में लगने का समय आ गया है।

मूर्ति कलाकार रंजीत मंडल ने हिन्दुस्थान समाचार को बुधवार को बताया कि 1997 में अशोक सिंघल के द्वारा इनको अयोध्या लाया गया था। रंजीत मंडल को करीब 23 वर्ष अयोध्या के राम कथा कुंज में मूर्तियां निर्मित करने का कार्य किया जा रहा है। भगवान श्री राम, माता सीता और लक्ष्मण तथा भरत-शत्रुघ्न, राजा दशरथ, ऋषि-मुनियों की मूर्तियां तैयार हो चुकी हैं। मूर्ति कलाकार द्वारा भगवान श्री राम के बाल रूप से लेकर राज्याभिषेक तक की मूर्तियां का निर्माण हो गया है जो आगे भी सीता हरण तक की मूर्तियां निर्माण कार्य चल रहा है। जो राम मंदिर निर्माण का कार्य पूरा होते ही मूर्तियों पर पेंटिंग इत्यादि पूरा कार्य हो जाएगा।

मूर्ति कलाकार रंजीत मंडल ने बताया कि इनके परिवार में कोई भी मूर्ति कलाकार नहीं था प्रभु श्रीराम की कृपा है जो यह बचपन से मूर्तियां बना रहे हैं। उन्होंने बताया कि आसाम प्रदेश के कहार जिला के इटहोला रामकृष्ण पल्ली के स्थाई निवासी हैं। 05 अगस्त को भूमि पूजन शिलान्यास कार्यक्रम होने के बाद अब वह दिन दूर नहीं है निर्मित भगवान श्री राम की बाल स्वरूप से लेकर मूर्तियां राम जन्मभूमि परिसर में स्थापित कराए जाएंगे। उन्होंने बताया कि राम मंदिर निर्माण का कार्य पूरा होते हुए बाल स्वरूप से लेकर राज्य अभिषेक तथा सीता हरण तक की मूर्तियां बन जाएंगे जो परिसर क्षेत्र में स्थापित कराए जायेगी।

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top