अपराध

Blog single photo

दिल्ली: कारोबारी से ठगे करोड़ों रुपये

03/06/2019

अश्वनी शर्मा 
नई दिल्ली, 03 जून (हि.स.)। बैंक में गिरवी रखे फ्लैट को खरीदने के चक्कर में एक कारोबारी ठगी का शिकार हो गया। आरोपितों ने पीड़ित को बैंक में रखे फ्लैट के कागजातों की फोटो स्टेट दिखाकर सौदा किया। सात करोड़ रुपये में फ्लैट की बात हुई। साढ़े तीन करोड़ रुपये बैंक को देकर फ्लैट को छुड़ाने की बात की गई लेकिन रुपये देने के बाद पीड़ित को पता चला कि फ्लैट किसी और व्यक्ति का है। न तो पीड़ित को फ्लैट मिला और न ही उसके उसके साढ़े तीन करोड़ रुपये वापस मिले। पीड़ित कारोबारी ने आर्थिक अपराध शाखा में रविवार को मामले की शिकायत की, जिसके बाद पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपितों की तलाश शुरू कर दी है।
पुलिस के अनुसार पीड़ित मुकेश अग्रवाल परिवार के साथ सूरजमल विहार, आनंद विहार में रहते हैं। इनका अपना कारोबार है। वर्ष 2013 में मुकेश ने अपने घर के बेसमेंट में जतिन नामक एक प्रॉपर्टी डीलर को किराए पर जगह दी थी। जतिन ने अपना दफ्तर वहां खोला हुआ था। दोनों की अच्छी दोस्ती हो गई। बातचीत के दौरान एक दिन जतिन ने मुकेश को एक फ्लैट की अच्छी डील के बारे में बताया। जतिन ने बताया कि आनंद विहार में ही फ्लैट है लेकिन वह बैंक में गिरवी रखा है। बैंक को साढ़े तीन करोड़ रुपये देकर फ्लैट को पहले छुड़ाना होगा। जतिन ने बताया कि वह उसका बेहद कम रुपयों में सौदा करवा देगा। जतिन ने मुकेश को फ्लैट के कागजात की फोटो कॉपी भी दिखाई। मुकेश ने सौदे में रुचि दिखाई तो जतिन फ्लैट के मालिक बनाकर अनुज, दीपक और कुशल नामक लोगों को लेकर घर पहुंचा।
मुकेश ने सौदेबाजी के बाद सात करोड़ रुपये में फ्लैट की डील कर ली। फ्लैट के कागजात की फोटो कॉपी देखकर ही पीडि़त मुकेश ने आरोपितों को अलग-अलग ट्रांसजेक्शन के जरिये साढ़े तीन करोड़ रुपये दे दिए। आरोपियों ने जल्द बैंक में रुपये जमा कराने के बाद बैंक से फ्लैट को छुड़ाने का झांसा दिया। समय बीतने के बाद आरोपित मुकेश को झांसा देने लगे। परेशान होकर पीडि़त ने फ्लैट की डिटेल निकलवाई तो पता चला कि फ्लैट किसी और के नाम पर है। पीडि़त ने जतिन से अपने पैसे मांगे तो वह आनाकानी करने लगा। परेशान होकर अब पीड़ित ने आर्थिक अपराध शाखा से मामले की शिकायत की। पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपितों की तलाश शुरू कर दी है।
हिन्दुस्थान समाचार

 

 
Top