व्यापार

Blog single photo

काले धन पर बड़ी कामयाबी हासिल, स्‍विस बैंक में जमा भारतीयों के खातों की मिली जानकारी

07/10/2019

प्रजेश शंकर  

नई दिल्‍ली, 07 अक्‍टूबर (हि.स.)। विदेश से काला धन वापस लाने का वादा कर साल 2014 से सत्‍ता पर का‍बिज मोदी सरकार को एक बड़ी कामयाबी मिली  है। स्विटजरलैंड ने स्‍विस  बैंक में जमा भारतीयों के काले धन से जुड़ा पहले दौर का विवरण भारत को सौंपा  है। इस जानकारी में चालू खातों की सूचना भी शामिल है।

उल्‍लेखनीय है कि स्विट्जरलैंड ने भारत को स्वचालित व्यवस्था के तहत ये सूचनाएं उपलब्ध कराई हैं। स्विट्जरलैंड के फेडरल टैक्स एडमिनिस्ट्रेशन (एफटीए) ने भारत को यह जानकारी दी है। एफटीए के प्रवक्ता ने सोमवार को कहा कि भारत को एईओआई फ्रेमवर्क के तहत पहली बार ये सूचना दी गई है। एफटीए इसे एईओआई पर ग्लोबल स्टैंडर्ड्स फ्रेमवर्क के अंतगर्त फाइनेंशल अकाउंट्स पर सूचनाओं आदान-प्रदान किया है।
इस फ्रेमवर्क के तहत उन वित्तीय खातों की सूचनाओं का आदान-प्रदान किया जाता है,  जो कि अभी सक्रिय हैं या इसे 2018 में बंद किए जा चुके हैं। बता दें कि भारत उन 75 देशों की सूची में शामिल है, जिसके साथ एफटीए ने सूचनाओं का आदान-प्रदान किया गया है। प्रवक्ता ने कहा कि वित्तीय खातों का अगला आदान-प्रदान सितंबर 2020 में होगा। हालांकि, एफटीए ने भारत से जुड़ी किसी खास जानकारी को देने से यह कहते हुए मना कर दिया कि यह गोपनीयता से जुड़ा हुआ मामला है। 
स्विटजरलैंड ने भेजा 31 लाख स्विस खातों का विवरण  
स्विट्जरलैंड के फेडरल टैक्स एडमिनिस्ट्रेशन ने समझौते में शामिल देशों को कुल 31 लाख बैंक खातों का विवरण भेजा है। लेकिन इन देशों से उसे 24 लाख जानकारियां हासिल हुई हैं। स्विस बैंक अकाउंट से जुड़ी इन जानकारियों में आइडेंटिफिकेशन, खाते और पैसों से जुड़ी जानकारी और  नाम, पता, नेश‍नलिटी, टैक्स आइडेंटिफिकेशन नंबर, वित्तीय संस्थानों से जुड़ी सूचनाएं,  बैंक अकाउंट में पड़े पैसे और कैपिटल इनकम भी शामिल हैं।
भारतीयों का 6,757 करोड़ रुपये जमा होने का अनुमान 
वहीं, स्विस नेशनल बैंक (एसएनबी) द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार स्विस बैंक में भारतीयों द्वारा जमा रकम साल 2018 में लगभग 6 फीसदी घटकर 6,757 करोड़ रुपये रही थी। वही, बीते दो दशक में जमा रकम का यह दूसरा निचला स्तर है। बैंक फॉर इंटरनेशनल सैटलमेंट (बीआईएस) के 'लोकेशनल बैंकिंग स्टैटिस्टिक्स' के अनुसार साल 2018 में भारतीयों द्वारा स्विस बैंक में जमा रकम में 11 फीसदी की गिरावट आई है।
स्विस बैंक में जमा धन में 74वें पायदान पर भारत
स्विस बैंक में काला धन जमा करने वाले देशों की सूची में भारत दुनियाभर में 74वें पायदान पर है, जबकि ब्रिटेन पहले पायदान पर विराजमान है। स्विस बैंक में धन जमा करने वालों की रैंकिंग में दूसरे नंबर स्थान पर अमेरिका, तीसरे स्थान पर वेस्ट इंडीज, चौथे स्थान पर फ्रांस तथा पांचवें स्थान पर हांगकांग है। गौरतलब है कि स्‍विस बैंक में जमा 50 फीसदी से अधिक पैसा विश्‍व के  इन्हीं पांचों देशों के लोगों का है। 

हिन्‍दुस्‍थान समाचार


 
Top