राष्ट्रीय

Blog single photo

'वायु' तूफान से निपटने को एनडीआरएफ-एसडीआरएफ और सेना की 22 टीमें तैनात

11/06/2019

अहमदाबाद, 11 जून (हि.स.) अरब सागर में डीप डिप्रेशन से बना 'वायु' तूफान सबसे पहले कोडिनार, सौराष्ट्र के दीव और उसके बाद ऊना में हिट होगा। राज्य सरकार ने तूफान से निपटने के लिए तटीय इलाकों में एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और सेना की 22 टीमों को तैनात किया है। 12 जून की आधी रात को करीब 2 बजे यह तूफ़ान दस्तक देने के बाद फिर धीरे-धीरे आगे बढ़ेगा। ऊना, कोडिनार, वानकबारा, दीव में तूफान की तेजी दिखाई देगी लेकिन 13 जून की दोपहर को धीमा पड़ने लगेगा। इस बीच, सौराष्ट्र और दक्षिण गुजरात में भारी वर्षा का अनुमान लगाया गया है। 

एनडीआरएफ की दो टीमें नलिया और कंडला जाएंगी। वडोदरा से विभिन्न बचाव दल मोरबी, राजकोट, तेवडिया, जामनगर, द्वारका, पोरबंदर, सोमनाथ, अमरेली और जूनागढ़ जाएंगे। इसके अलावा राज्य के बाहर से भी एनडीआरएफ की टीमों को बुलाया जा रहा है। पुणे और भटिंडा की पांच टीमें और अजमेर की एक टीम आएगी। राजस्व सचिव पंकज कुमार ने सरकार के ऊर्जा, सड़क और भवन, कृषि, स्वास्थ्य, शिक्षा विभाग से भी कहा है कि वे बचाव और राहत कार्यों और संबंधित क्षेत्रों के लोगों की सुरक्षा के लिए अधिकारियों के साथ समन्वय करें। उन्होंने बताया कि बचाव के लिए सौराष्ट्र-कच्छ क्षेत्र में 11 राज्य और 11 अन्य टीमें तैनात की जाएंगी। 

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने गांधीनगर में मंगलवार को अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक करने के बाद बताया कि बचाव के लिए एनडीआरएफ, नौसेना, वायु सेना, सेना, तटरक्षक, समुद्री पुलिस के अलावा स्थानीय अधिकारियों और पुलिस तंत्र की भी मदद ली जा रही है। उन्होंने कहा कि 'वायु' तूफान को लेकर केंद्र सरकार भी सतर्क है और गुजरात सरकार के संपर्क में है केन्द्रीय कैबिनेट सचिव शाम 5 बजे वीडियो कांफ्रेंसिंग द्वारा राज्य सरकार के अधिकारियों से बचाव और राहत कार्य की तैयारियों की समीक्षा करेंगे 

हिन्दुस्थान समाचार/पारस/सुनीत 


 
Top