राष्ट्रीय

Blog single photo

वंदे भारत एक्सप्रेस में केन्द्रीय मंत्री समेत यात्रियों को परोसा गया घटिया खाना, जीजीएम ने शुरू की जांच

11/06/2019

-दिन भर की जांच के बाद आईआरसीटीसी के जीजीएम ने कहा कि खाना सप्लाई करने वाले होटल पर लगेगा जुर्माना

कानपुर, 11 जून (हि.स.)। वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन में बदबूदार खाना परोसने के मामले में इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कारपोरेशन (आईआरसीटीसी) ने जांच शुरू कर दी है। मामला केन्द्रीय मंत्री से जुड़ा होने के कारण आईआरसीटीसी के जीजीएम मंगलवार को कानपुर सेंन्ट्रल स्टेशन पहुंचे और दिन भर जांच-पड़ताल के बाद सख्त लहजे में कहा कि खाना सप्लाई करने वाले होटल पर जुर्माना भी लगाया जायेगा। 
बनारस से दिल्ली जाने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन में रविवार के दिन कानपुर में केन्द्रीय राज्य मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति समेत अन्य यात्रियों को घटिया खाना परोसा गया था, जिसको लेकर यात्रियों और मंत्री ने आपत्ति जाहिर की थी और शिकायत पुस्तिका में आपत्ति जाहिर की थी।मंगलवार को आईआरसीटीसी के जीजीएम एमपी सिंह दिल्ली से कानपुर पहुंचे और जांच के बाद खाना सप्लाई करने वाली कंपनी पर जुर्माना लगाने की बात कही। एमपी सिंह ने मंगलवार को पूरे दिन कानपुर में रहकर जांच की और अब अपनी रिपोर्ट रेलवे मंत्रालय को सौपेंगे।
  
पनीर से आ रही थी दुर्गन्ध
यात्रियों के मुताबिक रविवार को बनारस से दिल्ली जा रही वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन में घटिया क्वालिटी का खाना परोसा गया था, जिसमें पनीर में दुर्गन्ध आ रही थी। केंद्रीय राज्यमंत्री के साथ एग्जीक्यूटिव क्लास ई-1 में कथावाचक आचार्य शांतनु महाराज, आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर अमेय करकरे, बीएनडी कॉलेज के प्राचार्य डॉ. विवेक द्विवेदी, सीएसजेएम यूनिवर्सिटी के सिस्टम मैनेजर डॉ. सरोज द्विवेदी, इलाहाबाद विश्वविद्यालय के डॉ. अभिषेक भी सफर कर रहे थे और इन सभी ने लिखित शिकायत दर्ज कराई थी।

लैंडमार्क होटल से आया था भोजन
रेलवे स्टाफ ने बताया कि ट्रेन में रात का खाना कानपुर के होटल लैंडमार्क से आता है। होटल लैंडमार्क के एमडी विकास मेहरोत्रा का कहना है कि खाना घटिया नहीं था। एक यात्री नशे में था। उसने खाना खराब होने की शिकायत की है। खाने के सैंपल की रोज जांच की जाती है। उस दिन भी जांच हुई थी और कोई गड़बड़ी नहीं मिली।

हिन्दुस्थान समाचार/अजय/उपेन्द्र/सुनीत 


 
Top