अपराध

Blog single photo

ब्रांडेड कंपनी की नकली सीमेंट बनाने वाली फैक्ट्री का खुलासा, 11 गिरफ्तार

03/10/2019

मालगोदाम में छापा मारकर हजारों बोरी नकली सीमेंट भी बरामद की गई

आदित्य कुमार 
नोएडा, 03 अक्टूबर (हि.स.)। उत्तर प्रदेश के जिला गौतमुद्धनगर में ब्रांडेड कंपनी की नकली सीमेंट बनाने वाली फैक्ट्री का खुलासा करते हुए 11 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। मालगोदाम में छापा मारकर हजारों बोरी नकली सीमेंट भी बरामद की गई है  

एसएसपी वैभव कृष्ण ने गुरुवार को सूरजपुर स्थित कार्यालय में एक प्रेसवार्ता में बताया कि कुछ दिन पूर्व थाना सेक्टर-20 की पुलिस को नकली सीमेंट बनाने वाले कारखानों की जानकारी मिली थी। उसके बाद इस गिरोह के खुलासे के लिए बिसरख कोतवाली, थाना सेक्टर-20, नॉलेज पार्क के कोतवाली और बादलपुर कोतवाली की पुलिस टीम बनाई गई। पुलिस टीम ने ग्रेटर नोएडा के अलग-अलग स्थानों पर छापेमारी करके नकली सीमेंट के धंधे में लिप्त बिहार के कटिहार निवासी छोटू, मुरादाबाद निवासी राजबीर, वाराणसी निवासी संतोष और गाजियाबाद के विजयनगर निवासी हरिराज को गिरफ्तार किया। 

एसएसपी ने बताया कि इनसे पूछताछ में पता चला कि गाजियाबाद के लालकुआं निवासी चंद्रपाल बिसरख निवासी अपने साथी हरेंद्र के साथ मिलकर नकली सीमेंट बनाने का कारोबार करता है। हरेंद्र का भी बिसरख में नकली सीमेंट बनाने का प्लांट उसके घर में लगा है। इनके साथ सुनील और जयंती प्रसाद का गोदाम मोरटा शाहपुर में है। ये लोग नकली सीमेंट के बड़े सप्लायर हैं जो उत्तरप्रदेश से अन्य राज्यों में सीमेंट की सप्लाई करते थे। पूछताछ में यह भी पता चला कि दिल्ली के मंगोलपुरी निवासी सुनील, आलोक, विष्णु और तालीम की नोएडा के सेक्टर-146 में हिंडन नदी के किनारे नकली सीमेंट बनाने की बड़ी फैक्ट्री है। इसके बाद इन स्थानों पर भी छापे मार कर सभी को गिरफ्तार कर लिया गया। 

वैभव कृष्ण ने बताया कि आरोपित एनटीपीसी प्लांट से निकलने वाली राख, पुरानी खराब सीमेंट और डस्ट आदि मिलाकर नकली सीमेंट तैयार करके बेचते थे। उन्होंने कहा कि चार आरोपित चंद्रपाल, अकरम, भूरा और रिजवी फरार हैं जिन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। एसएसपी ने बताया कि पुलिस शाहबेरी या नोएडा डूब क्षेत्र में इनके कनेक्शन की जांच कर रही है कि क्या इन्होंने शाहबेरी में भी सीमेंट की सप्लाई की थी जिस कारण पिछले साल दो इमारत गिरने से नौ लोगों की मौत हो गई थी। उन्होंने कहा कि जांच में ऐसा पाया गया तो उन स्थानीय डीलरों पर भी कार्रवाई की जाएगी। 

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top