क्षेत्रीय

Blog single photo

पूरे देश में है झारखंड के विकास की चर्चा: रघुवर दास

10/09/2019

विकास कुमार पाण्डेय

रांची, 10 सितम्बर (हि.स.)। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि झारखंड में हर सेक्टर में काम हुआ है। अब तक लोग नारे और वादे ही देते रहें, लेकिन सरकार नारे और वादों से नहीं चलती है। सरकार चलती है नीति और नीयत से। हमारी सरकार ने सत्ता में आते ही नीतियां बनानी शुरू किया। नीति बनाकर उस पर काम करना शुरू किया। इसी का नतीजा है कि आज पूरे देश में झारखंड के विकास की चर्चा है। पहले देश में जहां झारखंड की चर्चा घोटाले और गड़बड़ी की होती थीवहीं आज लोग राज्य में हो रहे विकास कार्यों की चर्चा कर रहे हैं। मुख्यमंत्री मंगलवार को एक समाचार चैनल की ओर से आयोजित शिखर सम्मेलन कार्यक्रम में बोल रहे थे। 


उन्होंने कहा कि झारखंड संभावनाओं से भरा हुआ प्रदेश है। यहां संभावना हैसामर्थ्य है और संसाधन भी है। इसके बावजूद 14 वर्ष राजनीतिक अस्थिरता के कारण राज्य का विकास नहीं हो पाया है। राज्य के लोगों की आकांक्षा पूरी नहीं हो पा रही थी। 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर झारखंड की जनता ने राज्य में पूर्ण बहुमत की सरकार बनायी। पिछले साढ़े चार साल में राज्य की स्थिर सरकार ने लोगों की आकांक्षा को पूरा करने का प्रयास किया है।


मोदी सरकार ने किसानों की चिंता की

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड में खेती की काफी संभावना है, लेकिन केंद्र की पूववर्ती सरकारों के कारण किसान कर्जदार बनते चले गये। मोदी सरकार ने किसानों की चिंता की। उन्होंने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की शुरूआत की। इसमें किसानों को सालाना छह हजार रुपये की सहायता मिल रही है। इसी प्रकार राज्य सरकार ने मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना की शुरुआत की है। इसके तहत राज्य के किसानों को पांच हजार से 25 हजार रुपये सालाना मिल रहे हैं। इससे किसानों को छोटे मोटे कार्यों के लिए किसी का कर्जदार नहीं बनना पड़ रहा है।


मिट्टी का डॉक्टर बन रही है सखी मंडल की दीदीयां

मुख्यमंत्री ने कहा कि इसी प्रकार गांव में खेत की मिट्टी की जांच के लिए गांव की बच्चियों को प्रशिक्षण और उपकरण देकर मिट्टी का डॉक्टर बनाया जा रहा है। यहां किसान अपनी मिट्टी की जांच करा कर उसके स्वास्थ्य और उसके लिए बेहतर फसल के विकल्प के बारे में जान पा रहे हैं। इन योजनाओं का लाभ राज्य के 35 लाख किसानों को मिल रहा है। इससे प्रधानमंत्री जी के वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के लक्ष्य को प्राप्त करने में मदद मिलेगी। सरकार पशुपालन को भी बढ़ावा दे रही है।


राज्य में अब तक 2.17 लाख सखी मंडल बनाये गए

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड की नारी शक्ति काफी मेहनती है। इस शक्ति को जोड़ कर विकास में भागीदार बनाया जा रहा है। राज्य में सखी मंडल बनाकर महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ा जा रहा है। अब तक 2.17 लाख सखी मंडल बनाये जा चुके हैं। इनके माध्यम से 28 लाख से ज्यादा महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ा जा रहा है। इन्हीं सखी मंडल के माध्यम से रेडी टू इट योजना का संचालन कराया जायेगा। इसमें महिलाओं व बच्चों को पौष्टिक आहार उपलब्ध कराया जाता है। अभी इस योजना में 500 करोड़ रुपये की राशि दूसरे प्रदेशों में जा रही है। अब राज्य सरकार झारखंड की महिलाओं को इससे जोड़कर उन्हें रोजगार के अवसर उपलब्ध करा रही हैवहीं ये 500 करोड़ रुपये झारखंड की ही ग्रामीण अर्थव्यवस्था में रहेंगे।


मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार मध्यमछोटे व लघु उद्योगों को बढ़ावा दे रही है। यह ज्यादा से ज्यादा लोगों को रोजगार देता है। इसी प्रकार झारखंड में टेक्सटाइल सेक्टर में काफी काम हुआ है। कई बड़ीं कंपनियां झारखंड में उत्पादन इकाई लगा रही है। इससे बड़ी संख्या में हमारी बच्चियों को रोजगार मिला है। 


सीएनटी-एसपीटी के एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि आदिवासियों को गुमराह कर उनकी जमीन हड़पने वाले ही सीएनटी-एसपीटी का सबसे ज्यादा उल्लंघन कर रहे हैं। 

 

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top