चुनावी विशेष

Blog single photo

आठ सीटों पर सिमटा पंजाब कांग्रेस का मिशन-13

23/05/2019

कुसुम

 

चंडीगढ़, 23 मई (हि.स)। लोकसभा चुनाव-2019 के नतीजों का ऐलान  हो चुका है। पंजाब में कांग्रेस सरकार ने पंजाब की 13 की 13 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा था लेकिन मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह का ये मिशन मात्र आठ सीटों तक ही सिमट कर रह गया। यहां तक कि गुरदासपुर, फिरोज़पुर और बठिंडा जैसी हॉट सीटें भी कांग्रेस के हाथ से रेत की तरह फिसल गईं। पंजाब की 13 सीटों पर कांग्रेस को मिली जीत और हार पर एक नज़र डालते हैं -

 

1. फिरोज़पुर - फिरोज़पुर सीट पंजाब की सबसे हॉट सीट मानी जाती है। यहां इस बार भी शिरोमणि अकाली दल ने ही कब्जा कर लिया है। चुनाव से कुछ दिन पहले अकाली दल छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए शेर सिंह घुबाया को सुखबीर बादल ने 197008 वोटों से मात दी है। आम आदमी पार्टी को 31000 तो पंजाब डेमोक्रेटिक पार्टी को मात्र 25864 वोट ही हासिल हुए हैं।  

 

2. गुरदासपुर - पंजाब की दूसरी हॉट सीट गुरदासपुर बीजेपी ने कांग्रेस से वापस हथिया ली है। अदाकार और बीजेपी उम्मीदवार सन्नी देओल ने कांग्रेस के सुनील जाखड़ को 77662 वोटों से हरा दिया है। 1999 से इस सीट पर स्वर्गीय अदाकार और बीजेपी उम्मीदवार विनोद खन्ना ने जीत हासिल करते आ रहे थे। हालांकि 2009 में कांग्रेस इस पर काबिज हो गई थी, लेकिन 2014 में विनोद खन्ना ने फिर से बड़े अंतर के साथ यहां जीत हासिल की थी लेकिन 2017 में उनके देहांत के बाद कांग्रेस उम्मीदवार सुनील जाखड़ ने जीत हासिल की थी। 

 

3. बठिंडा - बठिंडा सीट पर अकाली-भाजपा उम्मीदवार और केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने फिर से कब्जा किया है। उन्होंने कांग्रेस उम्मीदवार अमरिंदर सिंह राजा वडिंग को 21480 मतों से मात दी है। हरसिमरत ने 2014 में कांग्रेस उम्मीदवार और अपने देवर मनप्रीत सिंह बादल को सिर्फ 20 हज़ार वोटों से मात दी थी।

 

4. पटियाला - शाही सीट पटियाला पर महारानी परनीत कौर का कब्जा हो गया है। कांग्रेस के लिए नाक का सवाल बनी इस सीट पर परनीत कौर ने अकाली-भाजपा उम्मीदवार सुरजीत सिंह रखड़ा को 160999 मतों के बड़े अंतर से मात दी है। इससे पहले यहां पर आम आदमी पार्टी से बर्खास्त सांसद डॉ. धर्मवीर गांधी का कब्जा था। गांधी इस बाद 161,111 वोट हासिल कर तीसरे नंबर पर रहे हैं।

5. अमृतसर - अमृतसर सीट एक बार फिर से कांग्रेस की झोली में जा गिरी है। यहां के सिटिंग सांसद गुरजीत सिंह औजला ने अकाली-भाजपा उम्मीदवार और केंद्रीय मंत्री रहे हरदीप सिंह पुरी को बड़े अंतर से हराया है। 2014 की अगर बात करें तो मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली को 1,02,770 वोटों से हराया था।

 

6. संगरूर - संगरूर ही एक मात्र ऐसी सीट है, जिस पर एक बार फिर से आम आदमी पार्टी के मौजूदा सांसद भगवंत मान ने जीत हासिल की है। मान ने इतिहास रचते हुए कांग्रेस के केवल सिंह ढिल्लों को करीब एक लाख वोटों से हराया है। अकाली-भाजपा उम्मीदवार परमिंदर सिंह ढींडसा यहां तीसरे नंबर पर रहे हैं।

 

7. होशियारपुर - होशियारपुर आरक्षित सीट पर अकाली-भाजपा उम्मीदवार सोम प्रकाश ने कांग्रेस के राजकुमार चब्बेवाल को पछाड़ते हुए करीब 47000 वोटों से हराया है। सोम प्रकाश को 416735 तो चब्बेवाल को 369792 वोट मिले हैं। आप उम्मीदवार डॉक्टर रवजोत को सिर्फ 44207 मतों से ही संतोष करना पड़ा है।

 

8. फरीदकोट - फरीदकोट सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार और पंजाबी गायक मोहम्मद सदीक ने अकाली दल उम्मीदवार गुलज़ार सिंह रणीके को बड़े अंतर से मात दी है। आप उम्मीदवार साधु सिंह और पंजाब डेमोक्रेटिक के मास्टर बलदेव सिंह इन दोनों से काफी पीछे रहे हैं। इस सीट पर 12 बार हुए चुनावों में से 7 बार अकाली दल, तीन बार कांग्रेस जबकि एक-एक बार शिरोमणि अकाली दल (अ) और आम आदमी का कब्जा रहा है। 2014 से इस सीट पर आम आदमी पार्टी का कब्जा था।  

 

9. श्री फतेहगढ़ साहिब - इस लोकसभा हलके को कांग्रेस उम्मीदवार डॉ. अमर सिंह ने फतेह कर लिया है। उन्होंने अकाली भाजपा उम्मीदवार दरबारा सिंह गुरू को 93,558 मतों के बड़े अंतर से हराया रहै। यहां पर पीडीए उम्मीदवार मनविंदर सिंह गयासपुर 141914 मतों के साथ तीसरे तों आप उम्मीदवार बनदीप सिंह दुल्लो 62830 वोट हासिल कर चौथे नंबर पर रहे।

 

10. खडूर साहिब - खडूर साहिब सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार जसबीर सिंह डिंपा ने बाजी मारते हुए अकाली-भाजपा उम्मीदवार बीबी जागीर कौर को करारी पटखनी दी है। जागीर कौर दूसरे जबकि पीडीए उम्मीदवार परमजीत कौर खालड़ा तीसरे नंबर पर रही है। आप उम्मीदवार मनजिंदर सिद्धू चौथे नंबर पर रहे हैं। अकाली दल से नाराज़ होकर शिरोमणि अकाली दल (टकसाली) पार्टी बनाने वाले रणजीत सिंह ब्रह्मपुरा ने अकाली-भाजपा की तरफ से 2014 में यहां से बड़ी जीत हासिल की थी।

 

11. लुधियाना - हौजरी उद्योग के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध लुधियाना लोकसभा सीट इस बार फिर से कांग्रेस की झोली में गई है। कांग्रेस उम्मीदवार रवनीत सिंह बिट्टू ने एक बार फिर से जीत हासिल करते हुए 76,498 मतों से पीडीए उम्मीदवार सिमरजीत सिंह बैंस को हरा दिया है। 298963 मतों के साथ अकाली-भाजपा उम्मीदवार महेशइंदर गरेवाल तीसरे नंबर पर रहे हैं जबकि आप के प्रो. तेजपाल को सिर्फ 15974 मतों से ही सब्र करना पड़ा है।   

 

12. श्री आनंदपुर साहिब - कांग्रेस उम्मीदवार मनीष तिवारी ने यहां से अकाली-भाजपा उम्मीदवार प्रेम सिंह चंदूमाजरा को 46795 मतों से मात दी है। तीसरे नंबर पर रहे पीडीए उम्मीदवार बिक्रम सिंह सोढ़ी को 140870 तो चौथे नंबर पर आप के नरेंद्र शेरगिल को 52002 मत हासिल हुए हैं।

 

13. जालंधर - मौजूदा कांग्रेस सांसद संतोख सिंह चौधरी ने फिर से इस सीट पर कब्जा करते हुए अकाली-भाजपा उम्मीदवार चरनजीत सिंह अटवाल को 19,204 वोटों से पछाड़ दिया है। बसपा उम्मीदवार बलविंदर कुमार तीसरे नंबर पर रहे हैं।

 

मिशन-13 का सपना टूटने के पीछे मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपने कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को जिम्मेदार ठहराया है। कैप्टन का कहना है कि सिद्धू ने गलत समय पर अपनी ही सरकार के खिलाफ बयानबाज़ी कर उनके इस मिशन को करारा धक्का पहुंचाया है।

 

हिन्दुस्थान समाचार

 

 

 

 

 

 

 


 
Top