खेल

Blog single photo

विजेता खिलाड़ियों को स्वदेश लौटते ही पुरस्कार राशि मिलेगी : किरण रिजिजू

04/09/2019

नरेंद्र परवाना
सोनीपत, 04 सितंबर (हि.स.)। 'केंद्र सरकार ने निर्णय किया है कि अंतरराष्ट्रीय स्पर्धाओं में पदक जीतने वाले खिलाड़ियों को अब स्वदेश लौटते ही पुरस्कार राशि का चेक प्रदान किया जाएगा।' केंद्रीय खेल राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) किरण रिजिजू ने यह घोषणा बुधवार को क्षेत्रीय खेल प्राधिकरण (साईं) के बहालगढ़ केंद्र के दौरे के दौरान पत्रकारों से बातचीत में की। उन्होंने कहा, इससे खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ेगा और उन्हें आगे बढ़ने की प्रेरणा मिलेगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार खेल और खिलाड़ियों को बढ़ावा देने के लिए कृत संकल्प है।

उन्होंने कहा, सरकार का उद्देश्य है कि देश में नया खेल कल्चर विकसित हो। सुविधाएं विश्वस्तरीय हों और युवाओं को खेल में कैरियर की सभावनाएं दिखें। उन्होंने कहा कि कोशिश यह है कि सभी खिलाड़ियों को सरकारी और गैरसरकारी क्षेत्र में नौकरी मिले। इससे खिलाड़ी बेफिक्र होकर अपने खेल पर अधिक ध्यान दे सकेंगे। रिटायरमेंट के बाद कोचिंग के क्षेत्र में अपना अमूल्य योगदान दें सकें।

रिजिजू ने कहा कि केंद्र सरकार नवगठित केंद्रशासित प्रदेश लद्दाख और जम्मू-कश्मीर में खेलों को बढ़ावा देने के लिए काम कर रही है। लद्दाख 12 हजार फीट से अधिक ऊंचाई पर है। इसलिए वहां पर सिंथेटिक ट्रैक विकसित किए जाएंगे। खेल मंत्रालय आइस हाकी को भी मान्यता देगा। लद्दाख में तीरंदाजी अकादमी खोली जाएगी। जल्द ही खेल नीति को अपडेट किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि देश में जिलास्तर पर खिलाड़ियों को बेहतर सुविधाएं मिलनी चाहिए। इस बारे में जल्द ही राज्यों के खेल मंत्रियों की बैठक होगी। सोनीपत साईं सेंटर में सुविधाएं बढ़ाई जाएंगी। इस दौरान रिजिजू ने तीरंदाजी अकादमी का निरीक्षण कर राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पदक विजेता खिलाड़ियों से बातचीत की। उन्होंने तीरंदाजी में हाथ भी अजमाए।

इसके बाद उन्होंने साईं सेंटर की मेस, हॉस्टल, स्विमिंग पूल, जिम का निरीक्षण किया। पैराओलंपियन अमित सरोहा से चर्चा की। साईं परिसर में रुद्राक्ष का पौधा रोपा। इस मौके पर साईं की निदेशक ललिता शर्मा, कोचिंग स्कीम इंचार्ज वजीर फौगाट, ट्रेनिंग इंचार्ज आज्ञापाल, नेहरू युवा केंद्र के हरियाणा राज्य निदेशक एसएन शर्मा, नेहरू युवा केंद्र के जिला समन्वयक नवीन गुलिया, जिला खेल विभाग के प्रदीप कुमार पालीवाल और बीडीपीओ मनीष मलिक मुख्य रूप से मौजूद रहे।

हिन्दुस्थान समाचार 


 
Top