खेल

Blog single photo

भारत बनाम साउथ अफ्रीकाः पहले टेस्ट मैच में टीम इंडिया ने 203 रनों से करारी शिकस्त दी

06/10/2019

- अश्विन ने सबसे तेज 350 विकेट के विश्व कीर्तिमान की बराबरी की
- ओपनर के तौर पर रोहित का जबर्दस्त प्रदर्शन, दोनों पारियों में शतक
- आखिरी दिन शमी-जडेजा की जोड़ी का कमाल, झटके सात विकेट  

संजीव 
विशाखापत्तनम, 06 अक्टूबर (हि.स.)। तीन टेस्ट मैच की सिरीज के पहले टेस्ट मैच में भारत ने मेहमान साउथ अफ्रीकी टीम को 203 रनों की करारी शिकस्त दी है। विशाखापत्तनम में खेले गए मैच के पांचवें दिन टीम इंडिया को जीत के लिए 09 विकेट की जरूरत थी। जिसे टीम इंडिया ने मैच के दो सत्रों में ही हासिल कर सिरीज में 1-0 की बढ़त बना ली। मैच के आखिरी दिन मोहम्मद शमी और रविंद्र जडेजा ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 07 अफ्रीकी बल्लेबाजों को पवेलियन का रास्ता दिखाया। इस टेस्ट मैच में 08 विकेट हासिल कर रविचंद्रन अश्विन ने सबसे तेज 350 विकेट हासिल करने के विश्व कीर्तिमान की बराबरी की। गुरुवार को सिरीज का दूसरा टेस्ट मैच पुणे में शुरू होगा।

रविवार को भारत बनाम दक्षिण अफ्रीका टेस्ट मैच के आखिरी दिन भारतीय गेंदबाजों ने सुनिश्चित जीत की जमीन तैयार कर दी। नौ विकेट हासिल कर जीत तक पहुंचना आसान नहीं दिख रहा था लेकिन सटीक भारतीय गेंदबाजी के सामने अफ्रीकी टीम पूरी तरह से बिखरकर रह गयी। दूसरी पारी में मोहम्मद शमी ने 35 रन देकर 05 विकेट लिए जबकि रविंद्र जडेजा ने 87 रन देकर 04 विकेट झटके।
इससे पहले भारत ने अपनी दूसरी पारी में शनिवार को रोहित शर्मा के 127 रनों की बदौलत 04 विकेट पर 323 रनों पारी घोषित कर दी थी। पहली पारी में 71 रनों की लीड के साथ दक्षिण अफ्रीका के समक्ष जीत के लिए 395 का बेहद मुश्किल लक्ष्य था। शनिवार को इस लक्ष्य का पीछा करने उतरी दक्षिण अफ्रीकी टीम ने चौथे दिन का खेल खत्म होने तक महज 11 रनों पर एक विकेट गंवा दिया था।
रविचंद्रन अश्विन ने दिन के शुरू में ही ब्रूयन को आउट कर मैच में आठवां शिकार किया। अपना 66वां टेस्ट मैच खेल रहे अश्विन ने इस विकेट के साथ ही सबसे तेज 350 विकेट के वर्ल्ड रिकॉर्ड की बराबरी कर ली। यह रिकॉर्ड श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन के नाम है।

पहली पारी में कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाने वाले मोहम्मद शमी और रविंद्र जडेजा की जोड़ी ने मैच के आखिरी दिन मेहमान टीम को किसी भी वक्त संभलने का मौका नहीं दिया। शमी ने दक्षिण अफ्रीकी कप्तान फाक डु प्लेसिस (13) और पिछली पारी में शानदार शतक जड़ने वाले क्विंटन डि कॉक को शून्य पर आउट कर विरोधी टीम की कमर तोड़ दी। जबकि रविंद्र जडेजा ने भी अपने कप्तान की उम्मीदों को जिंदा रखते हुए शानदार प्रदर्शन किया। लगातार दो गेंदों पर फिलैंडर और केशव महाराज को शून्य पर आउट करने के बाद जडेजा के सामने हैट्रिक का मौका था लेकिन तीसरे बल्लेबाज डेन पीट ने हैट्रिक बॉल को अच्छी तरह से संभाल लिया।
इससे पहले टीम इंडिया ने टॉस जीतकर टेस्ट मैच की शुरुआत की। भारत की ओपनिंग जोड़ी मयंक अग्रवाल ने शानदार 215 और रोहित शर्मा ने 176 रनों की जबर्दस्त पारी खेली। भारत ने सात विकेट के नुकसान पर 520 रनों पर पहली पारी घोषित की थी। भारतीय गेंदबाजों ने 431 रनों पर दक्षिण अफ्रीकी टीम को समेटकर 71 रनों की बढ़त हासिल कर ली। हालांकि पहली पारी में दक्षिण अफ्रीकी टीम की तरफ से डीन एल्गर ने 160 और क्विंटन डिकॉक ने 111 रनों की शतकीय पारी खेली जबकि कप्तान डुप्लेसिस ने 55 रनों की पारी खेली।

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top