क्षेत्रीय

Blog single photo

भारत को श्रेष्ठ राष्ट्र और शक्तिशाली राष्ट्र बनाने के लिए एकजुट होकर कार्य करें : रमेश चंद्र रत्न

07/11/2019

डॉ राजीव जोशी
बीकानेर, 07 नवम्बर (हि.स.)। भारत सरकार के रेल मंत्रालय में रेलवे बोर्ड के पैसेंजर्स सर्विसेज कमेटी (पीएससी) के चेयरमैन रमेश चंद्र रत्न ने गुरुवार को बीकानेर में कहा कि लालकिले से स्वच्छता की जो अलख प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जगायी थी उसका बेहतरीन असर बीकानेर और लालगढ़ रेलवे स्टेशन पर दिखा है। अभियान को साकार करना केवल सरकार का ही काम नहीं, बल्कि प्रत्येक मनुष्य का परम दायित्व है। दो दिवसीय दौरे पर यहां आए रत्न गुरुवार सांय लालगढ़ और बीकानेर रेलवे स्टेशन का निरीक्षण कर बहुभाषी न्यूज एजेंसी हिन्दुस्थान समाचार से बातचीत कर रहे थे। 

उन्होंने कहा कि रेलवे 'लाईफ ऑफ दा नेशन' है, जिसमें 98 प्रतिशत यात्री 23 मिलियन प्रतिदिन रेल से यात्रा का सुखद आनंद लेते हुए गंतव्य को पहुंचते हैं। इसके लिए लोगों को भी स्वच्छ भारत के साथ स्वच्छ स्टेशन रखने का काम करना चाहिए। 

उन्होंने कहा कि भारत हम सबका राष्ट्र है, इसके लिए श्रेष्ठ राष्ट्र और शक्तिशाली राष्ट्र तभी बनेगा जब हम सब एकजुट होकर मिलकर कार्य करेंगे। उन्होंने कहा कि अब तक 14 राज्यों के 160 रेलवे स्टेशनों का निरीक्षण किया है। बीकानेर स्टेशन पर स्वच्छता एवं पेंटिंग आदि देखकर संतुष्टि मिली है, इसके लिए बीकानेर मंडल के रेलवे अधिकारी बधाई के पात्र हैं। उन्होंने रेलवे स्टेशन पर ही खाद्य पदार्थों की गुणवत्ता, यात्रियों की सुरक्षा का जायजा लेकर मौजूद अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए। 

लोगों के बीच सीधा संवाद करते हैं
यात्री सेवा समिति के चेयरमैन रमेश चंद्र रत्न ने कहा कि रेलवे स्टेशनों पर आकस्मिक चैकिंग करते हुए देशभर में लोगों के बीच पहुंचकर सीधा संवाद करते हैं। समस्याएं होती हैं तो उनका निराकरण जल्द से जल्द करते हुए रेलवे अधिकारियों को निर्देश दिए जाते हैं। उन्होंने रेलयात्रियों से आह्वान किया कि कृपया पटरी पार नहीं करें, नहीं तो जुर्माना लगाने के निर्देश दे दिए जाएंगे। हालांकि जुर्माना तो आप भर देंगे लेकिन कुछ गलत घटित हो गया तो आपकी जान चली जाएगी जो वापिस नहीं आ पाएगी। सुरक्षा की दृष्टि से उन्होंने सीसीटीवी कैमरे दुरुस्त करने के निर्देश दिए। 

बीकानेर स्टेशन नं. वन
उन्होंने कहा कि स्वच्छता मामले में बीकानेर रेलवे स्टेशन नं. वन है। ये कहने में मुझे कोई झिझक नहीं है। साफ-सुथरा स्टेशन दिखा, अधिकारियों का तालमेल भी बेहतर है। हालांकि मैं हर स्टेशनों पर जाता हूं तो जुर्माना ही लगाता हूं लेकिन यहां मुझे कुछ भी गलतियां या कमियां नहीं दिखीं। 

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top