राष्ट्रीय

Blog single photo

देशहित में विचार रखना राजनीति नहींं: भैय्याजी जोशी

20/02/2020

- संघ भविष्य में भी कभी चुनावी राजनीति का हिस्सा नहीं बनेगा

मनीष कुलकर्णी
नागपुर, 20 फरवरी (हि.स.)। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह भैय्याजी जोशी ने कहा कि देशहित में विचार रखना प्रत्येक नागरिक का अधिकार होता है। यदि संघ देशहित को ध्यान में रखते हुए कोई बात कहता है तो उसे राजनीति मान लेना गलत होगा। 

नागपुर के पांडे ले-आऊट स्थित बास्केट बाल मैदान पर आयोजित पुस्तक विमोचन कार्यक्रम में शिरकत करते हुए सरकार्यवाह ने कहा कि हमारे देश में बीते कई वर्षोंं से देशहित में बात करने को राजनीति समझने की गलत अवधारणा प्रचलित है। नतीजतन कई लोग संघ पर राजनीति करने का आरोप लगाते हैंं। जोशी ने बताया कि यदि देश की सीमा पर कोई समस्या खड़ी होती है या सेना की जरूरतोंं की पूर्ति के लिए संघ की ओर से कोई बयान सामने आता है तो उसे राजनीति मान लेना गलत है। सरकार्यवाह ने कहा कि देश की चिंता करने और देशहित में चिंतन करने को राजनीति नहींं कहा जा सकता। 

इस अवसर पर जोशी ने संघ का रूख स्पष्ट करते हुए बताया कि संघ ने कभी राजनीति नहींं की और ना ही कोई चुनाव लड़ा है। संघ भविष्य में भी कभी चुनावी राजनीति का हिस्सा नहींं बनेगा। जोशी ने बताया कि संघ में सरकार्यवाह का चुनाव राजनीति से परे होता है। नतीजतन यह चुनाव कब और कैसे होता है, इस बारे में बहुत कम चर्चा होती है। 
सरकार्यवाह ने कहा कि समाज, सेना और देश की जरूरतोंं पर बोलने को राजनीति नहींं कहा जा सकता। संघ पर राजनीति का आरोप करने वालोंं से भैय्याजी ने पूछा कि जो तुम्हेंं पसंद हो वही हम कहेंं, ऐसा चाहते हो क्या ? 

सरकार्यवाह ने मौजूदा परिस्थितियोंं पर कटाक्ष करते हुए कहा कि हमारे संविधान ने सभी को अभिव्यक्ति की आजादी प्रदान की है लेकिन इस आजादी का आनंद लेते समय हमेंं खुद को अनुशासित करना बेहद जरूरी है। हर चीज में मर्यादा का पालन होना चाहिए। जोशी ने बताया कि हमारी अभिव्यक्ति की आजादी से समाज में भय, हिंसा, भ्रष्टाचार ना फैले, इसकी जिम्मेदारी हर व्यक्ति के कंधे पर है। 

 हिन्दुस्थान समाचार



 
Top