राष्ट्रीय

Blog single photo

कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाकर सरदार पटेल का सपना पूरा किया : अमित शाह

24/08/2019

नागराज राव
हैदराबाद (तेलंगाना), 24 अगस्त (हि.स.)। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाकर हमने देश के पहले गृहमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल के सपने को पूरा किया है। वह चाहते थे कि अन्य राज्यों की तरह ही जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग बनेे।

शाह यहां आईपीएस की पासिंग आउट परेड के बाद ट्रेेेेनी अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे। गृहमंत्री ने कहा कि सिर्फ आईपीएस बनना युवा का मकसद नहीं होता, बल्कि देश के विकास और विभाग के प्रति समर्पित भाव से देश की सेवा करना ही आपका मकसद होना चाहिये। आईपीएस ट्रेनी को संंबोधन के दौरान उन्होंने कहा कि आने वाले समय में आपके सामने कई तरह की चुनौतियां आएंगी। इन चुनौतियों को आपको अपने दिमाग से निपटना होगा। हो सकता है कि आने वाले समय में कई बार आपको ऐसे आदेश भी मिलेंं, जो संविधान के अनुरूप न होंं लेकिन आपको ऐसे आदेश मिलने के बाद भी संविधान के तहत ही काम करने की हिम्मत दिखानी होगी। 

गृहमंत्री शाह ने हैदराबाद की रियासत का ज़िक्र करते हुये कहा कि देश के पहले गृह मंत्री सरदार वल्लभाई पटेल ने आजादी से पहले अलग-अलग रियासतों में बंंटेे देश का एक करने का काम किया था। पटेल ने उस समय 562 रियासतों का भारत में विलय करवाया था। उन्होंने दूरदर्शिता और चतुराई से हैदराबाद की रियासत का भी भारत में विलय करवाया था। शाह ने कहा कि केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाकर देश के पहले गृहमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल का सपना पूरा किया है। वह चाहते थे कि अन्य राज्यों की तरह ही जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग बने। उन्होंने कहा कि मैं पासिंग आउट परेड के मौके पर चुने गए नए आईपीएस अधिकारी के परिवार वालों का भी शुक्रिया अदा करना चाहता हूं, जिनके सपोर्ट के बिना शायद देश को इतने होनहार अधिकारी नहीं मिलते।

इससे पूर्व मुख्य अतिथि शाह ने ट्रेनिंग पूरी कर चुके आईपीएस की परेड की सलामी ली। इस परेड में कुल 92 आईपीएस के अलावा अन्य देशाेंं के 11 ट्रेनी अधिकारियों ने भाग लिया, जिसमे  इनमें 12 महिला आईपीएस शामिल हैंं। इसमें दोनों तेलुगु राज्यों के छह आईपीएस ट्रेनी भी हैं। सरदार वल्लभाई पुलिस अकादमी में प्रशिक्षण में ​सर्वोत्तम प्रदर्शन करने वाले गौस आलम को तेलंगाना राज्य आवंटित किया गया। कार्यक्रम में ​राज्यपाल ईएसएल नरसिम्हन, तेलंगाना के गृहमंत्री महमूद अली, केंद्रीय गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी,  डीजीपी महेंदर रेड्डी और अन्य ​पुलिस अधिकारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम के बाद पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली के निधन का समाचार मिलते ही शाह नई दिल्ली के लिए रवाना हो गये हैंं।

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top