राष्ट्रीय

Blog single photo

आईआईटी दिल्ली में तीन दिवसीय कार्यशाला शुरू

10/08/2019

सुशील बघेल

नई दिल्ली,  10 अगस्त (हि.स.)। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) दिल्ली में शनिवार से तीन दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला शुरू हो गई। टेक फॉर सेवा नामक इस कार्यशाला का उद्घाटन डीएसटी के सचिव आशुतोष शर्मा और  मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एमएचआरडी) के सचिव आर सुब्रह्मण्यम ने किया।

कार्यशाला प्रौद्योगिकी डेवलपरप्रौद्योगिकी उपयोगकर्ता और प्रौद्योगिकी प्रदाताओं को एक साथ एक ही मंच पर लाकर समाज को प्रौद्योगिकी को जोड़ती है। आईआईटी दिल्ली इस कार्यशाला का आयोजन विजना भारती के साथ मिलकर संयुक्त रूप से कर रहा है।

प्रो. आशुतोष शर्मा ने टेक फॉर सेवा’ के माध्यम से प्रौद्योगिकी को समाज से जोड़ने पर जोर दिया। उन्होंने सुझाव दिया कि सरल वैज्ञानिक लेखन के माध्यम से सामाजिक समस्याओं को संबोधित करके विज्ञान को लोकप्रिय बनाना शोधकर्ताओं की जिम्मेदारी है। उन्होंने समाज की भलाई के लिए अनुसंधान को बढ़ाने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने वैज्ञानिक समुदाय से टेक फॉर सेवा को वैज्ञानिक सामाजिक जिम्मेदारी के लिए एक मंच के रूप में उपयोग करने की अपील की। उन्होंने इस उपेक्षित डोमेन में प्रवेश करने और समुदाय के साथ उच्च शिक्षण संस्थानों को शामिल करने के लिए एमएचआरडी को भी धन्यवाद दिया।

स्वागत भाषण में आर सुब्रह्मणयम ने कहा जो विज्ञान समाज के बारे में नहीं सोचता वह बेकार है और जो समाज विज्ञान के बारे में नहीं सोचता वह कभी प्रगति नहीं कर सकता। उन्होंने भारत की समस्याओं को हल करने के लिए पारंपरिक ज्ञान और उन्नत अवधारणाओं को लागू करने के लिए श्रोताओं को प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि भारत की प्रगति केवल संज्ञानात्मक क्षमताजांच की भावना और सही दिशा में अनुसंधान और विकास द्वारा समर्थित नवाचारों के साथ होगी। आईआईटी दिल्ली के निदेशक प्रो. वी. रामगोपाल राव ने उच्च शिक्षण संस्थानों को समाज और ग्रामीण क्षेत्रों से जोड़ने पर जोर दिया

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top