राम जन्मभूमि

Blog single photo

अयोध्या राम मंदिर का निर्माण बनेगा जन सेवा का आधार

05/08/2020

-चंदा के बहाने गरीबों तक पहुंचाई जाएंगी कल्याणकारी योजनाओं का लाभ
-मंदिर निर्माण के लिए अब तक एकत्र हो चुके 20 करोड़ 

लखनऊ, 05 अगस्त (हि.स.)।  अयोध्या में श्रीराम मंदिर का निर्माण कार्य जन सेवा का भी आधार बनेगा। बुधवार को संपन्न हुए भूमि पूजन अनुष्ठान के बाद विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) अब मंदिर निर्माण के लिए चंदा इकट्ठा करेगी। इस दौरान विहिप के कार्यकर्ता समाज के हर वर्ग खासकर दलितों और जनजातियों के बीच जाएंगे और उन्हें सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाएंगे। 

इस दौरान विहिप महिलाओं के सशक्तीकरण के लिए भी काम करेगी। संगठन का मानना है कि राम मंदिर का निर्माण कार्य लगभग तीन साल तक चलेगा। इस अवधि में विहिप मंदिर निर्माण के लिए चंदा एकत्र करने के साथ-साथ जाति प्रथा के खिलाफ भी बड़ा अभियान चलाने का विचार कर रही है। 

विहिप के एक सक्रिय कार्यकर्ता ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि मंदिर निर्माण के लिए देश के तमाम उद्योगपतियों ने पूरा खर्च उठाने की इच्छा जताई है, लेकिन संगठन मंदिर को किसी उद्योगपति के नाम समर्पित नहीं करना चाहता है। 

उन्होंने बताया कि विहिप चंदा अभियान के तहत पहले चरण में देश के करीब 10 करोड़ परिवारों तक जाएगी और दस रुपये से सौ रुपये तक का चंदा हर परिवार से एकत्र करेगी। उन्होंने बताया कि इस कार्य में अन्य संगठनों के कार्यकर्ताओं का भी सहयोग लिया जाएगा। 

अब तक एकत्र हो चुके 20 करोड़ 

विहिप कार्यकर्ता की माने तो अयोध्या में राम मंदिर निर्माण हेतु अब तक लगभग 20 करोड़ रुपये चंदे से एकत्रित हो चुके हैं। चंदा के लिए विहिप ने भारतीय स्टेट बैंक का एकाउंट नंबर 39161495808 और आईएफएस कोड एसबीआईएन0002510 भी जारी किया है। यह एकाउंट भारतीय स्टेट बैंक की अयोध्या शाखा में श्रीराम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र के नाम खोला गया है।

हिन्दुस्थान समाचार/ पीएन द्विवेदी /राजेश
  


 
Top