अंतरराष्ट्रीय

Blog single photo

मिस्र के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद मोर्सी सुपूर्दे खाक

18/06/2019

कृष्ण
काहिरा, 18 जून (हि.स.)। मिस्र के 67 वर्षीय पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद मोर्सी को काहिरा में मंगलवार को दफना दिया गया। अदालत में पेशी के दौरान उनका निधन हो गया था। यह जानकारी उनके वकील ने बुधवार को दी।   
समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक, मानवाधिकार समूह ने मोर्सी को हिरासत में रखे जाने और उनकी मौत की स्वतंत्र जांच की मांग की है। विदित हो कि मोहम्मद मोर्सी मिस्र के पहले लोकतांत्रिक ढंग से राष्ट्रपति चुने गए थे। उन्हें साल 2013 में सत्ता से बेदखल कर दिया गया था।
मोर्सी पर विदेशी शक्तियों और आतंकी समूहों के साथ सहयोग करने का आरोप था। इसी मामले की फिर से सुनवाई के दौरान वह अदालत में पेश हुए थे। उन्होंने अपनी बातें कहने के लिए जज से पांच मिनट का समय मांगा। अदालत ने उन्हें समय भी दे दिया, लेकिन जब उन्होंने अपनी बातें कहनी शुरू की तो कटघरे में ही लुढ़क गए। हालांकि उन्हें अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उनकी सांसें रुक चुकी थीं।
सरकारी टेलीविजन  की रिपोर्ट के मुताबिक, पूर्व राष्ट्रपति मोर्सी का निधन हृदयगति रुकने से हुई। उन्हें पूर्वी काहिरा के मेदिनात नसर में दफनाया गया है। इस अवसर पर उनके परिवार के सदस्य उपस्थित थे।

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top