अपराध

Blog single photo

दिल्ली : कारोबारी को अगवा करने के मामले में मुख्‍य आरोप‍ित गिरफ्तार

02/03/2020

अश्वनी शर्मा
नई दिल्ली, 02  मार्च (हि.स.)। पश्‍च‍िमी ज‍िले के हरि नगर इलाके से कारोबारी को अगवाकर 25 लाख की फिरौती मांगने वाले गैंग के सरगना को क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया है। आरोपि‍त की पहचान अजय त्रिपाठी के रूप में हुई। आरोपित पहले भी पांच करोड़ की रंगदारी के लिए एक बच्चे का अपहरण जयपुर में कर चुका है। वहीं गिरफ्तारी की जानकारी हरि नगर पुलिस को दे दी गई है, जहां से उसने अपहरण किया था।
अतिरिक्त आयुक्त अजीत सिंगला के अनुसार 18 फरवरी को तिलक नगर के रहने वाले कारोबारी का अपहरण कर लिया गया था। उन्हें छोड़ने के लिए 25 लाख की फिरौती मांगी गई थी। इस बाबत हरि नगर थाने में मामला दर्ज किया गया था। मामले में पुलिस द्वारा की जा रही धरपकड़ के चलते आरोपितों ने दिल्ली कैंट मेट्रो स्टेशन के पास पीड़ित को छोड़ दिया था। वहीं एक आरोपित हरिपाल को पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार भी कर लिया था लेकिन अन्य सभी आरोपि‍त भागने में कामयाब रहे थे। पुलिस टीम पर चलाई गई गोली के मामले की छानबीन के दौरान पता चला कि अपहरण का मास्टरमाइंड अजय त्रिपाठी है, जिसे पहले क्राइम ब्रांच 2017 में गिरफ्तार कर चुकी है।
क्राइम ब्रांच को सूचना मिली कि अजय त्रिपाठी अपने साथी से मिलने के लिए नजफगढ़ रोड के पास आएगा। इस जानकारी पर टीम ने जाल बिछाया। बाइक पर आ रहे इस शख्स को पुलिस टीम ने जब रुकने का इशारा किया तो उसने तीन राउंड गोली चला दी। 

पुलिस कर्मियों को लगी गोली
इस दौरान दो गोली इंस्पेक्टर पीसी खंडूरी और एएसआई बिजेंद्र की बुलेट प्रूफ जैकेट पर लगी। वहीं पुलिस टीम अजय को पकड़ने में कामयाब रही। उसके पास से एक पिस्तौल और तीन कारतूस बरामद हुए। वहीं एक बाइक भी बरामद की गई, जो द्वारका नॉर्थ इलाके से चोरी की गई थी। 

पहले भी कर चुका है अपहरण
आरोप‍ित अजय त्रिपाठी नजफगढ़ का रहने वाला है। 2010 में उसने दो साल के एक बच्चे को किडनैप कर पांच करोड़ की फिरौती मांगी थी। इस बाबत जयपुर में मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार किया गया था। जेल से बाहर आने के बाद उसने नजफगढ़, मुंडका, बहादुरगढ़ इलाके के बदमाशों के साथ मिलकर गैंग बनाया और जमीनों पर कब्जा करने लगा। आगे की जांच में पता चला सितंबर 2012 में आरोपि‍त ने ककरोला में 200 गज की एक जमीन पर जबरन कब्जा किया था। इस बाबत द्वारका थाने में मामला दर्ज किया गया था। 2017 में उसे क्राइम ब्रांच ने अवैध हथियार के साथ गिरफ्तार किया था।

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top