व्यापार

Blog single photo

अमेजन के संस्‍थापक बेजोस के खिलाफ देश के 300 शहरों में 15 को प्रदर्शन करेगा कैट

14/01/2020

प्रजेश शंकर
नई दिल्‍ली, 14 जनवरी (हि.स.)। ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन के संस्‍थापक और मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) जेफ बेजोस का 15 जनवरी को आगमन पर देशभर के व्‍यापारी विरोध करेंगे। यह जानकारी दिल्‍ली स्थित हिंदी भवन में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में मंगलवार को कन्‍फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्‍ट्रीय महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने दी।

प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कैट के राष्‍ट्रीय महासचि‍व प्रवीण खंडेलवाल ने अमेजन एवं फ्लिपकार्ट के खिलाफ सरकार की एफडीआई पॉलिसी के उल्‍लंघन की भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) द्वारा जांच के आदेश की हम सराहना करते हैं। उन्‍होंने कहा कि केंद्र सरकार और विभिन्न मंचों पर कैट द्वारा लगाए गए हरेक आरोपों की इस जांच के आदेश से पुष्‍ट‍ि होती है।

खंडेलवाल ने कहा कि केंद्र सरकार ने अमेजन व फ्लिपकार्ट के खिलाफ ठोस कदम उठाए हैं, जो एफडीआई पॉलिसी का लगातार उल्लंघन करते हुए ई-कॉमर्स ही नहीं, बल्कि खुदरा व्यापार को खत्‍म करने के रैकेट में लिप्‍त है। देश के करीब 7 करोड़ व्यापारियों का प्रतिनिधित्व करने वाले 40 हजार से अधिक व्यापार संघों के शीर्ष निकाय कैट के महासचिव ने अमेजन व फ्लिपकार्ट सहित ई-कॉमर्स कंपनियों को सही नीति और नियत से कारोबार करने पर बाध्य करने की प्रतिबद्धता दोहराने के साथ एफडीआई नीति के सभी प्रावधानों का पालन करने पर मजबूर करने की बात भी कही।

खंडेलवाल ने कहा कि सीसीआई का आदेश प्रतिस्पर्धा अधिनियम की धारा 26 (1) के तहत दिया गया है, जो कि अपील योग्य भी नहीं है। इसलिए जांच से बचने के लिए अमेजन और फ्लिपकार्ट के पास कोई गुंजाइश नहीं है। खंडेलवाल ने इन दोनों कंपनियों से सवाल किया कि उन्हें ये बताना चाहिए कि वे अपने पोर्टल्स पर भारी छूट कैसे दे रहे हैं, जबकि हर साल वे भारी नुकसान की बात करते हैं। उन्‍होंने कहा कि यह आंकड़ों और जोड़-तोड़ के व्यापार मॉडल के सिवाय कुछ भी नहीं है, जिसने भारत के खुदरा व्यापार को नष्ट कर दिया है। इसके परिणाम स्वरूप देश के हजारों मोबाइल और अन्य दुकानें बंद हो गई है। 

उन्‍होंने कहा कि कैसे देशभर के 7 करोड़ व्यापारी और उनके परिवार अमेजन और फ्लिपकार्ट के पूर्ववर्ती और मालाफाइड व्यवसाय की वजह से प्रभावित हुए हैं। कैट महासचिव ने कहा कि ये दोनों ही ई-कॉमर्स कंपनियां छोटे और खुदरा कारोबारियों की आजीविका को अस्थिर करने के साथ-साथ जीएसटी और आयकर बचाकर देश को लूटते हैं। उन्‍होंने कहा कि अमेजन और फ्लिपकार्ट का व्यवसाय मॉडल प्रत्येक प्रतियोगिता कानून का उल्लंघन है।

खंडेलवाल ने कहा कि अमेजन और फ्लिपकार्ट ने सरकार को जीएसटी व आयकर का भारी नुकसान किया है। इस संबंध में कैट जल्द ही वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से मिलकर दोनों ही कंपनियों पर पर जीएसटी एवं आयकर दायित्व से बचने के खिलाफ जांच कराने का आग्रह करेंगे। उन्‍होंने बताया कि 15 जनवरी को अमेजन के संस्थापक जेफ बेजोस की यात्रा का देशभार के 300 शहरों में व्‍यापारी जोरदार विरोध के साथ उनका स्‍वागत करेगा। इसके अलावा कैट राजधानी दिल्ली में जंतर-मंतर पर प्रात: 11.30 बजे से लेकर 12.30 बजे के बीच विरोध-प्रदर्शन भी करेगा। 

हिन्‍दुस्‍थान समाचार


 
Top