क्षेत्रीय

Blog single photo

कानपुर नगर निगम के पीआरओ दफ्तर में लगी आग, अहम फाइलें जलीं

10/07/2019

-ठेकेदारों से जुड़े दस्तावेजों में घपले व सांठगांठ के सबूत मिटाने की आशंका 

मोहित
कानपुर, 10 जुलाई (हि.स.)। जनपद में बारिश के बाद प्लास्टिक फैक्ट्री में लगी आग के बाद नगर निगम पीआरओ कार्यालय में आग लग गई। धुआं और लपटें देख कर्मचारियों में हड़कम्प मच गया। कर्मचारियों ने आग बुझाने लगे और दमकल को सूचना दी। दमकल के पहुंचने पर आग पर काबू पाया गया। आग से विभागीय दस्तावेज जलने व पानी से खराब हो गये हैं। 

जनपद में मोतीझील इलाके में कानपुर नगर निगम का कार्यालय है। बुधवार को नगर निगम के जन सम्पर्क अधिकारी (पीआरओ) अतुल कृष्ण सिंह के नीचले परिसर में बने दफ्तर में आग लग गई। पीआरओ के दफ्तर में स्थित दस्तावेजों से भरे कमरे में अचानक आग लगने और धुआं निकलता देख वहां काम कर रहे कर्मचारी घबरा गये। कर्मचारियों ने जैसे ही कमरे में अंदर देखा तो विभागीय दस्तावेजों से आग की लपटें उठ रही थी। आग देख आनन-फानन कर्मचारी आग बुझाने में जुट गये और दमकल को सूचना दी गई। इस दौरान कर्मचारियों ने विभाग से जुड़े जरुरी दस्तावेजों को निकालने के प्रयास किया। 

काफी हद तक दस्तावेजों को निकालने में कर्मी कामयाब भी रहे, लेकिन कमरे में दमघोटू धुआं भरने से उन्हें परेशानी होने लगे। इस बीच नगर निगम परिसर की सुरक्षा में लगे सिक्योरिटी गार्ड भी आग बुझाने पहुंचे। इस बीच दमकल के पहुंचने पर आग पर काबू पाया जा सका। पीआरओ के मुताबिक आग लगने के पीछे प्रथम दृष्टया शार्ट सर्किट होने की बात सामने आ रही है। हालांकि पीआरओ दफ्तर में लगी आग के पीछे कुछ लोग अलग-अलग चर्चाएं कर रहें। बीतें दिनों सड़कों पर नगर निगम के स्टैंड ठेकों में एक ही फर्म को सभी स्टैंडों को ठेका दे दिया गया। इसके साथ ही कई अन्य ठेकेदारों के कार्यों से जुड़ी फाइलों सहित अन्य मामलों से जुड़े दस्तावेज मौजूद थे। जिनके जलने का अंदेशा जताया जा रहा है। 

गौरतलब है कि जनपद में बीते 24 घंटे से लगातार बारिश हो रही है। ऐसे में नगर निगम परिसर के अंदर स्थित पीआरओ दफ्तर में आग लगना संदेह की ओर इशारा कर रहा है। लेकिन यह तो जांच का विषय है। 

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top