युगवार्ता

Blog single photo

राजस्थान के इन रेलवे स्टेशनों पर कुल्हड़ चाय

11/12/2019

राजस्थान के इन रेलवे स्टेशनों पर कुल्हड़ चाय

 युगवार्ता डेस्क

आम के आम और गुठलियों के दाम भी। जी हां यह कहावत अब अपने अर्थ को चरितार्थ करेगी, सरकार के एक फैसले से। जल्द ही कुल्हड़ चाय की सोंधी खुशबू राजस्थान के अनेक रेलवे स्टेरशनों पर आपको मिल सकेगी। यह सुविधा बीकानेर, सिरसा, भिवानी, हनुमानगढ़, श्री गंगानगर, चूरू, सूरतगढ़, जोधपुर, पाली, बाड़मेर, जैसलमेर, भगत की कोठी, लूनी, जयपुर, झुंझुनूं, दौसा, गांधी नगर, दुर्गापुरा, सीकर, अजमेर, उदयपुर, सिरोही रोड और आबू रोड आदि स्टेशनों पर मिलेगी। इससे पहले केन्द्रीय एमएसएमई (सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम) मंत्री नितिन गडकरी के अनुरोध पर केन्द्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने रेलवे बोर्ड को इस संबंध में निर्देश जारी करने का आदेश दिया था।
खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) के अध्यक्ष वी के सक्सेना ने पिछले वर्ष केन्द्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल से अनुरोध किया था कि प्लाधस्टिक के बर्तनों के स्थान पर कुल्हड़ और मिट्टी के अन्य बर्तनों का उपयोग करने के लिए एक पायलट परियोजना के तहत वाराणसी और रायबरेली रेलवे स्टेटशनों का इस्तेमाल करने की अनुमति दी जाए। इस परियोजना को अनुमति मिली और संबंधित डीआरएम द्वारा पेश की गई इन दो रेलवे स्टेशनों से जुड़ी 6 माह की रिपोर्ट अत्यं्त उत्साहवर्धक पाई गई। मिट्टी से बने बर्तनों के कम उपयोग होने से देश के कुम्हारों को अपनी जीविका चलाने के लिए अन्य छोटे कार्यों को अपनाना पड़ रहा था।
इसमें बड़ी संख्या में कामगार लगे हुए हैं। केवीआईसी ने कुम्हार समुदाय को सशक्त बनाने के लिए पिछले वर्ष कुम्हार सशक्तिकरण योजना शुरू की थी। इसके तरह पत्थरों के पुराने चाकों के स्थान पर 10,000 इलेक्ट्रिक चाकों का वितरण किया था। 400 रेलवे स्टेशनों की जरूरतों की पूर्ति के लिए केवीआईसी ने इस वर्ष देश भर में 30,000 इलेक्ट्रिक चाक वितरित करने की योजना बनाई है।


 
Top