चुनावी विशेष

Blog single photo

तेलंगानाः उम्मीदों के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाई टीआरएस, आठ सीटों पर आगे

23/05/2019

भाजपा और कांग्रेस की चार-चार सीटों पर बढ़त

हैदराबाद (तेलंगाना), 23 मई (हि.स.)। तेलंगाना में लोकसभा चुनाव की मतगणना में अबतक घोषित रुझानों के अनुसार तेलंगाना में सत्तारूढ़ टीआरएस आठ,  भाजपा चार और कांग्रेस चार सीटों पर आगे चल रही है। 

आदिलाबाद में भाजपा के उम्मीदवार सोहम बापुराव, निजामाबाद के धर्मपुरी अरविंद और सिकंदराबाद के उम्मीदवार जी. किशन रेड्डी आगे चल रहे हैं। इसके अलावा करीमनगर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार बंडी संजय जीते हैं। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी बी. विनोद को लगभग 87 हजार से अधिक मतों से हराया। 

कांग्रेस उम्मीदवार कोमाटी रेड्डी वेंकट रेड्डी भुवनगिरि से, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष उत्तमकुमार रेड्डी नलगोंडा से, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष रेवंथ रेड्डी मलकाजगिरी से विजयी घोषित किये गए हैं। हालांकि अभी विजेताओं के आधिकारिक जीत की घोषणा का इंतजार है। अन्य एक सीट चेवेल्ला पर कांग्रेस के उम्मीदवार अपोलो हॉस्पिटल के महाप्रबंधक संगीता रेड्डी के पति विश्वेश्वर रेड्डी  चुनावी रुझाने में आगे हैंं।

रूझानों के अनुसार सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति आठ सीटों पर आगे है। खम्मम लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र टीआरएस के उम्मीदवार नामा नागेश्वर राव 1,56 लाख से अधिक वोटों से जीत गये। तेलंगाना के नगर कर्नूल लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से टीआरएस के उम्मीदवार पोतुगंटी रामुलू चुनाव जीत गये हैंं। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी मल्लुरवि के खिलाफ जीत दर्ज की। रामुलू को 476123 वोट मिले हैंं, जबकि मल्लु रवि को 182594 वोट मिले।  

वरंगल और महबूबनगर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से टीआरएस के उम्मीदवार जीत गये हैं। वरंगल से टीआरएस के उम्मीदवार को 5,66,367 वोट मिले है। कांग्रेस के उम्मीदवार को दोम्मटी सांबय्या को 2,40,101 मिले हैंं। जबकि भाजपा के सांबमूर्ति को 77,325 वोट मिले हैं। महबूबनगर से टीआरएस के उम्मीदवार मन्ने श्रीनिवास रेड्डी की जीत हुई है। श्रीनिवास रेड्डी को 2,82,255 वोट मिले है। उनके निकटतम प्रतिद्वंदी बीजेपी के उम्मीदवार को 2,25,851 वोट मिले है। जबकि कांग्रेस के चल्ला वंशीचंदर रेड्डी को 1,18,850 वोट मिले है।

पुराने शहर हैदराबाद में मजलिस इत्तेहाद मुस्लिमीन के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी चुनावी रुझाने में भाजपा से आगे हैं और लगभग जीत की दिशा में हैं।

11 अप्रैल को तेलंगाना के 17 लोकसभा सीटों के लिए चुनाव हुए थे। तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने तेलंगाना की सभी 16 सीटों पर जीत का दावा किया था। जबकि एक सीट पर एआईएमआईएम की जीत पर भरोसा व्यक्त किया था। उल्लेखनीय है कि एआईएमआईएम और टीआरएस में गहरी दोस्ती है। केसीआर और असदुद्दीन ओवैसी ने अनेक बार इसी बात की घोषणा भी की है।

निजामाबाद लोकसभा सीट से टीआरएस प्रमुख व तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव की बेटी कल्वाकुंट्ला कविता चुनाव में 76 ,000 वोटों से पीछे चल रही हैं और यहाँ भाजपा उम्मीदवार की जीत लगभग तय है। टीआरएस को इस सीट के रुझानों से बड़ा झटका लगा है क्योंकि मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव ने अपनी पुत्री को यहां से जिताने के लिए कड़ी मेहनत की थी। चुनावी सर्वेक्षणों में भी टीआरएस को तेलंगाना की सभी 16 सीटें दी गई थीं। इसके बावजूद टीआरएस का प्रदर्शन वैसा नहीं रहा है, जैसा उम्मीद की जा रही थी। तेलंगाना में भाजपा व कांग्रेस, दोनों ने जगह बना ली है।

हिन्दुस्थान समाचार /नागराज राव /   संजीव


 
Top