अपराध

Blog single photo

दिल्ली-एनसीआर से वाहन चोरी कर जम्मू-कश्मीर में बेचने वाले चार आरोपित गिरफ्तार

08/06/2019

अश्वनी 
नई दिल्ली, 08 जून (हि.स.)। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने दिल्ली एवं एनसीआर में वाहनों की चोरी कर उसे जम्मू-कश्मीर में बेचने वाले एक गैंग का खुलासा किया है। पुलिस ने गैंग के चार सदस्यों को गिरफ्तार किया है। गैंग अब तक सौ से ज्यादा वाहनों की चोरी कर उसे बेच चुका है। गिरफ्तार आरोपित एमबीए कर चुका है। पकड़े गए बदमाशों के कब्जे से पुलिस ने एक पिस्टल, चार कारतूस, दो कार और एक बाइक बरामद की है, जबकि इनके निशानदेही पर जम्मू कश्मीर पुलिस ने 13 वाहनों को जब्त किया हैं। 
क्राइम ब्रांच के डीसीपी जी. रामगोपाल नायक ने बताया कि पकड़े गए आरोपितों की पहचान सुरेश कुमार, तेजेंदर सिंह, शमशाद अली और मकसूद हुसैन के रूप में हुई है। 29 मई को एएसआई प्रमोद सिंह को सूचना मिली कि कुछ वाहन चोर भैरो मंदिर की पार्किंग में चोरी के वाहन को लेकर आ रहे हैं। बदमाशों के पास हथियार भी है। इस सूचना पर निरीक्षक जतन सिंह के नेतृत्व में पुलिस टीम वहां घेराबंदी कर सेंट्रो कार से आए दो बदमाश शाहदरा निवासी सुरेश कुमार और मोती नगर निवासी तेजेंदर सिंह को गिरफ्तार कर लिया। तलाशी के दौरान उनके पास से पुलिस ने एक पिस्टल और चार कारतूस बरामद किए।
पूछताछ के बाद पुलिस ने सुरेश के निशानदेही पर 31 मई को उसके सहयोगी भागरथी विहार निवासी शमशाद अली को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उसके कब्जे से वर्ना कार बरामद कर ली। 
शमशाद के निशानदेही पर पुलिस ने मूलत: श्रीनगर का रहने वाले मकसूद हुसैन को गिरफ्तार कर लिया। वह दिल्ली के खानपुर में रहता था। पुलिस ने उसके पास से एक बाइक बरामद कर ली। 
डिमांड पर जम्मू-कश्मीर भेजते थे वाहन 
पूछताछ में पता चला कि सुरेश और तेजेंदर अपने सहयोगी शमशाद के डिमांड पर दिल्ली व एनसीआर से वाहनों की चोरी करते थे। शमशाद चोरी के वाहन को इनसे लेकर मकसूद हुसैन को दे देता था जो उन गाड़ियों को जम्मू-कश्मीर में रहने वाले उनके गैंग के सदस्य को दे देता था। जम्मू-कश्मीर में मौजूद गैंग के सदस्य इंश्योरेंस कंपनी से क्षतिग्रस्त वाहनों को कागजात के जरिए खरीद लेता था। उसके बाद वह दिल्ली में मौजूद गैंग के सदस्य मकसूद को उसी मेक के वाहन की चोरी करने के लिए कहता था। चोरी का वाहन मिलने के बाद वह उन वाहनों में क्षतिग्रस्त वाहन का रजिस्ट्रेशन नंबर और चेसिस नंबर लगा देता था और फिर उसे बाजार में बेच देता था। 
आरोपितों ने खुलासा किया कि अब तक सौ से ज्यादा वाहनों की चोरी कर कश्मीर भेज चुका है। श्रीनगर के शहीद गंज थाना पुलिस ने इस खुलासे के बाद 13 गाड़ियां बरामद कर ली है। 
जांच में पुलिस को पता चला कि मकसूद हुसैन एमबीए की पढ़ाई कर चुका है। 2015 में दिल्ली में कॉल सेंटर में काम करने के बाद 2017 में उसने आयुर्वेदिक दवा का कारोबार शुरू किया। कारोबार में नुकसान होने के कारण ही उसने वाहन चोरी करना शुरू किया। 

हिन्दुस्थान समाचार

 

 
Top