क्षेत्रीय

Blog single photo

गिरफ्तार आबकारी विभाग के पूर्ववर्ती ओएसडी समुद्र सिंह के पास 5 करोड़ रुपये से भी अधिक का फॉर्म हाउस

21/11/2020

समुद्र सिंह की अवैध संपत्ति के बारे में एसीबी ने पूछताछ शुरू की

रायपुर ,21 नवम्बर (हि.स.)। गुरुवार को शराब कारोबार में करोड़ों रुपये का घोटाला करने के आरोप में गिरफ्तार किए गए आबकारी विभाग के पूर्ववर्ती ओएसडी समुद्र सिंह की अवैध संपत्ति के बारे में एसीबी ने पूछताछ शुरू कर दी है। जांच में पता चला है कि बिलासपुर में आरोपित ने 5करोड़ रुपये से  भी अधिक का एक फॉर्म हाउस बनाया है। यह भी जानकारी मिली है कि शराब कारोबारियों की मिलीभगत से उसने करोड़ों रुपये बतौर कमीशन प्राप्त किए हैं।
एसीबी ईओडब्ल्यू के मुखिया आरिफ शेख से मिली जानकारी के अनुसार 24 अप्रैल 2019 से आरोपी समुद्र राय फरार था। उसके ऊपर ईओडब्ल्यू में 4 अप्रैल 2019 को भ्रष्टाचार अधिनियम 2018 और कई धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज है। उन्होंने बताया कि अभी तक उसके पास से 50 करोड़ रुपये  की प्रॉपर्टी का हिसाब मिल चुका है। जानकारी के अनुसार मध्यप्रदेश के शहडोल का मूलतः निवासी समुद्र सिंह ने काली कमाई का एक बड़ा हिस्सा यहां भी छुपा कर रखा है। अधिकारियों का कहना है कि उसने आबकारी नीति में बदलाव कर विभाग को करोड़ों का नुकसान पहुंचाया और कमाई की। प्रॉफिट मार्जिन और निम्न स्तर की शराब की श्रेणी में बदलाव कर ठेकेदारों को भी फायदा पहुंचाया गया। जिससे आबकारी विभाग को लगभग 5000 करोड़ रुपये  का नुकसान हुआ है।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार रायपुर के बोरियाकला में उसकी बेटी के नाम हाउसिंग बोर्ड का लाखों की कीमत का मकान है। बिलासपुर में उसने एक बड़ा फॉर्म हाउस खरीदा है। शराब के लिए उसकी एक प्लेसमेंट कंपनी से मिलीभगत भी रही है। एसीबी आरोपित की अवैध संपत्ति सूची बना रही है। अदालत में दस्तावेज पेश करने के बाद आदेश अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

हिन्दुस्थान समाचार /केशव  


 
Top