अपराध

Blog single photo

दिल्ली : अब सिलेंडर में गांजे की तस्करी, आरोपित गिरफ्तार

12/01/2020

अश्वनी शर्मा  
नई दिल्ली, 12 जनवरी (हि.स.)।  गांजे की तस्करी का धंधा करने वाले लोग पुलिस से बचने के लिए नए नए हथकंडे अपना रहे हैं। करीब सौ किलो गांजा लोहे के छह सिलेंडर में भरकर वेस्ट बंगाल से नई दिल्ली रेलवे स्टेशन तक पार्सल के माध्यम से भिजवाया गया। बकायदा, रेलवे स्टाफ ने इसकी डिलीवरी भी कर दी और उन्हें इस बात की भनक तक नहीं लग सकी। इसी दौरान हाथ की रेहड़ी से सिलेंडर ले जाते समय एक सिलेंडर नीचे गिर गया और गांजा बाहर फैल गया। इस कारण मामले का खुलाया हुआ। पुलिस ने उक्त मामले में गांजे की खेप लेने पहुंचे एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया, जिसके पास से छह लोहे के सिलेंडर में भरा 96.5 किलो गांजा बरामद किया। फिलहाल पुलिस अब इस रैकेट में शामिल अन्य लोगों तक पहुंचने की कोशिश में लगी है।
रेलवे डीसीपी हरेन्द्र कुमार सिंह ने बताया 10 जनवरी की रात करीब 11 बजे हेड कांस्टेबल संदीप कुमार पेट्रोलिंग ड्यूटी पर थे। जब वह प्लेटफार्म संख्या-16 पर पहुंचे तो उन्होंने देखा एक आदमी हाथ से खींचने वाली रेहड़ी लेकर जा रहा है। उस पर कुछ लोहे के सिलेंडर रखे थे। तभी अचानक से एक सिलेंडर रेहड़ी से नीचे गिर पडा और उसके अंदर से कुछ सामान वहां फैल गया। यह देख हेड कांस्टेबल ने वहीं रुककर इस शख्स से बात की। वह एकदम से घबरा गया। पूछताछ में उसने जानकारी दी कि प्लेटफार्म पर फैला संदिग्ध सामान गांजा है। इसके बाद हेड कांस्टेबल ने रेलवे पुलिस स्टेशन को खबर कर दी। पुलिस ने पांच अन्य सिलेंडर खोलकर चैक किए, जिसमें गांजा मिला। पुलिस ने इस शख्स के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया। आरोपित की पहचान समयपुर बादली निवासी उसमान के रूप में हुई। इसके परिवार में पत्नी, मां और दो बहनें है।
आरोपित ने पूछताछ में खुलासा किया वह एक फैक्टरी में काम करने के साथ रिक्शा चलाता है। करीब महीने भर पहले उसे बुराडी में कृष नाम का आदमी मिला। उसने इस काम में शामिल करने का ऑफर दिया, जिसके बदले अच्छी रकम देने की बात कही गई थी। बकायदा, उसकी आईडी और मोबाइल नंबर भी ले लिया गया था। इसका काम सिर्फ यही था कि वह रेलवे स्टेशन से माल की डिलीवरी लाकर उस तक पहुंचा दें। गांजे की खेप वेस्ट बंगाल में पूर्वा एक्सप्रेस ट्रेन से नई दिल्ली रेलवे स्टेशन तक पहुंची थी। इसे फिरोज नाम के व्यक्ति ने उस्मान के नाम से यहां भेजा था। रेलवे स्टेशन पर पार्सल की डिलीवरी मिलने के बाद वह जा रहा था, तभी एक सिलेंडर के गिर जाने से वह पकडा गया। पुलिस अफसर ने बताया ये सिलेंडर अलग अलग जुट बैग में पैक होकर पहुंचे थे। दोनों ओर से वे बंद थे, प्रथम दृष्टया कोई भी उन्हें देखे तो वे ऐसे लगेगें शायद मशीनरी से सम्बंधित कोई उपकरण हों।

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top