सुनील दुबे

नई दिल्ली, 04 मई (हि.स.)। भारतीय महिला फुटबॉल के लिए 2022 एक ऐतिहासिक वर्ष होगा। भारत वर्ष 2022 में दो प्रमुख अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटों एएफसी महिला एशियन कप और फीफा अंडर -17 महिला विश्व कप की मेजबानी करेगा। इन दो टूर्नामेंटों से पहले भारतीय महिला फुटबॉल के लिए एक और बड़ी खुशखबरी है, एशियाई फुटबॉल परिसंघ (एएफसी) द्वारा आयोजित एएफसी महिला क्लब चैंपियनशिप 2021 में एक भारतीय क्लब को भी प्रतिभाग करने का मौका मिलेगा।

एएफसी महिला क्लब चैंपियनशिप में आठ अलग-अलग देशों की आठ टीमें होंगी और यह प्रतियोगिता 30 अक्टूबर से 14 नवंबर के बीच खेला जाएगा। ग्रुप ए (पूर्व) में चीनी ताइपेम्यांमारथाईलैंड और वियतनाम के प्रतिनिधित्व वाले क्लब शामिल होंगेजबकि ग्रुप बी (वेस्ट) में भारतआईआर ईरानजॉर्डन और उजबेकिस्तान के एक-एक क्लब शामिल होंगे। प्रतियोगिता में हीरो इंडियंस महिला फुटबॉल लीग के चैंपियन क्लब को भारत का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिलेगा।

एआईएफएफ के महासचिव कुशाल दास ने कहा कि यह प्रतियोगिता भारत में महिला फुटबॉल को बहुत बड़ा बढ़ावा देगी।

उन्होंने कहा, एएफसी महिला क्लब चैम्पियनशिप भारत में महिलाओं के फुटबॉल के विकास को बढ़ावा देने का एक शानदार अवसर है। हमारे पास पहले से ही दो अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम एएफसी महिला एशियाई कप और फीफा अंडर -17 महिला विश्व कप 2022 हैं। एएफसी महिला क्लब चैम्पियनशिप में भारतीय क्लब के हिस्सा लेने से महिला फुटबॉलरों के आत्मविश्वास को बल मिलेगा।"

2023 में होने वाले एएफसी महिला चैंपियंस लीग से पहले क्लब और सदस्य संघों को तैयार करने के लिए एएफसी महिला क्लब लाइसेंसिंग प्रणाली का एक कार्यान्वयन भी होगा। एआईएफएफ जल्द ही देश भर के क्लबों के बारे में समान कार्यशालाओं का आयोजन शुरू करेगा। ।

हिन्दुस्थान समाचार

You Can Share It :