युगवार्ता

Blog single photo

गिद्धों की संख्या में मामूली बढ़ोतरी

06/09/2019

गिद्धों की संख्या में मामूली बढ़ोतरी

युगवार्ता डेस्क

एक समय था कि जब पूरे देश में हर जगह गिद्ध दिखाई देते थे। लेकिन धीरे-धीरे ये विलुप्ति के कागार पर पहुंच गए। अब तो आलम ये है कि इनकी संख्या अंगुली पर गिनी जा सकती है। इसलिए सरकार ने इनके बचाव के लिए युद्ध स्तर पर प्रयास शुरू किया। जिसके परिणाण उत्साहजनक हैं। नई रिपोर्ट के मुताबिक नीलगिरि बायोस्फीयर रिजर्व में गिद्धों की संख्या में वर्ष 2012 से 26 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

गौरतलब है कि 2012 में नीलगिरि बायोस्फीयर रिजर्व में गिद्धों की संख्या लगभग 152 थी। और आज यह बढ़कर 192 तक पहुंच गयी है। गिद्धों की संख्या में कमी प्रमुख कारण जहरीले मांस का सेवन है। क्योंकि पशुपालक अपने जानवरों को बीमारी की दशा में कई प्रकार की दवाएं देते थे। बाद में जानवरों के मौत के बाद यही मांस गिद्धों की मौत का कारण बना। फिलहाल पशुपालन विभाग उन जहरीली दवाओं की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने की कोशिश में है जिसके मांस का सेवन करने से गिद्धों की मृत्यु हो जाती है।


 
Top