क्षेत्रीय

Blog single photo

पंचकूला में तीन किसानों पर पराली जलाने का केस दर्ज

07/11/2019

-पहली बार लगी एयर पॉल्यूशन एक्ट की धारा 
रमेश गोयत
पंचकूला, 7 नवंबर (हि. स.) पंचकूला में तीन किसानों पर पराली जलाने का केस दर्ज किया गया है। पहली बार एयर पॉल्यूशन एक्ट की धारा के तहत मामला दर्ज किया गया है। पंचकूला के रायपुररानी में धान की फसल को काटने के बाद बचे उसके अवशेषों (पराली) को जलाने के मामले में अब पंचकूला में एक के बाद एक मामले दर्ज हो रहे हैं। एरिया के पटवारी और एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट की रिपोर्ट के आधार पर केस रजिस्टर्ड किए जा रहे हैं। वहीं बड़ी, नई और चौंकाने वाली बात यह है कि किसानों में सिर्फ धारा 144 को तोड़ने का केस रजिस्टर्ड नहीं किया जा रहा है। बल्कि रायपुररानी में दर्ज किए दो मामलोे में एयर पॉल्यूशन एक्ट की धाराओं को लगाया गया है। डीसी मुकेश कुमार आहूजा के आदेश के बाद बरवाला, रायपुररानी एरिया में कई टीमें लगाई गई हैं। रायपुररानी पुलिस थाने में दो दिन पहले एक किसान पर मामला दर्ज किया गया था। वहीं अब गांव ककराली और फिरोजपुर के किसान पर केस दर्ज किया गया है। इसके चलते धारा 144 को तोड़ने पर आईपीसी की धारा 188 और एयर पॉल्यूशन एक्ट के तहत केस रजिस्टर्ड किया गया है। असल में पंचकूला के डीसी की ओर से इस बारे में पहले ही नियम जारी किए गए थे। वहीं पराली या धान के अवशेषों को जलाए जाने पर पाबंदी लगाई थी। इसके बाद भी पंचकूला के ग्रामीण छेत्र में किसानों ने बड़ी  संख्या में खेतों में पराली को जलाया है। पराली को जलाए जाने से फैले धुएं के कारण पर्यावरण को नुकसान हो रहा है। इसके साथ ही दमा, अस्थमा सहित खांसी, सांस लेने में दिक्कत आने वाले मरीजों की संख्या में बढ़ौतरी हुई है।

ककराली के जंग बहादुर के एक एकड़ खेत में मिली जलाई गई पराली वहीं फिरोजपुर के सुभाष के खिलाफ भी कृषि अधिकारी बलजीत सिंह की रिपोर्ट पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। इसके अलावा कृषि विभाग की ओर से रामपुर गांव के एक किसान पर भी खेत में धान के अवशेष जलाने पर ऑनलाइन केस दर्ज कर लिया है। फिलहाल ड्यूटी दूसरी जगह लगने के कारण अभी तक ऑफलाइन केस दर्ज नहीं हुआ, जो जल्द कर दिया जाएगा। कृषि अधिकारी बलजीत ने कहा कि गांव फिरोजपुर, टाबर, ककराली और रामपुर के चार किसानों पर केस दर्ज कर लिया गया है। 
 हिन्दुस्थान समाचार


 
Top