युगवार्ता

Blog single photo

विरोधियों का अवसान काल

01/10/2019

विरोधियों का अवसान काल

कृष्णमोहन सिंह

लालू, मुलायम, माया, पवार और जयललिता का कुनबा अब कांग्रेस के किनारे लग जाने और भाजपा के महाबली हो जाने से कुछ करने की स्थिति में नहीं रह गया है। सूत्रों का कहना है कि आगामी विधानसभा चुनावों में उत्तर प्रदेश में अखिलेश व मायावती समझौता करके चुनाव लड़े तो जेल जायेंगे। नहीं करेंगे तो इकाई अंक में सीट पायेंगे। बिहार में राजद ने जदयू से समझौता किया तो तेजस्वी, उनकी मां और बहन जेल जायेंगे, अकेले लड़ेंगे तो इकाई सीट पायेंगे। महाराष्ट्र में शरद पवार भले ही कांग्रेस से समझौता करके चुनाव लड़ रहे हैं, लेकिन उनके भतीजे अजीत पवार सिंचाई घोटाले में फंसे होने के कारण गिरμतारी से बचने के लिए अपने परिजनों से भगवा झंडा पकड़वाने लगे हैं।
राकांपा के खजांची व विमान घोटाले में आरोपी प्रफुल्ल पटेल भी भाजपा शीर्ष के यहां शरणागत हैं। जयललिता के अवसान के बाद पार्टी के कई नेता तमाम घोटालों में फंसते दिखे हैं।
ऐसे में आगामी विधानसभा चुनाव में जया की पार्टी वैसे भी हारने वाली है, डीएमके जीतेगी। लेकिन भाजपा भी आधार बढ़ाने में लगी है। राज्य में संघ के विहिप जैसे संगठन ने गणेश पूजा के समय चेन्नई में 2600 गणेश प्रतिमाओं की यात्रा निकाली। यह तमिलनाडु के इतिहास में पहली बार हुआ है। इस तरह वहां भी जया की जगह भरने व भाजपा का उफान लाने की पूरजोर कोशिश हो रही है। इस तरह देश भर में विपक्ष मुक्त भारत अभियान परवान चढ़ता जा रहा है।


 
Top