व्यापार

Blog single photo

मारुति ने लगातार 8वें महीने घटाया उत्पादन, सितम्बर में 17.48 फीसदी घटा प्रोडक्‍शन

08/10/2019

प्रजेश शंकर
नई दिल्‍ली, 08 अक्‍टूबर (हि.स.)। अर्थव्‍यवस्‍था में सुस्‍ती की वजह से ऑटोमोबाइल सेक्‍टर में लंबे समय से चली आ रही मंदी का दौर अभी जारी है। निजी क्षेत्र की सबसे बड़ी कार बनाने वाली कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया ने सुस्त डिमांड की वजह सितंबर में अपना उत्पादन 17.48 फीसदी घटा दिया है। लगातार आठवां महीना है जब कार बनाने वाली देश की सबसे बड़ी कंपनी अपना उत्पादन कम कर दिया है। अगस्त महीने में कंपनी ने उत्पादन 33.99 फीसदी घटा दिया था।

दरअसल कंपनी की ओर से रेग्‍यूलेटरी फाइलिंग से यह जानकारी मंगलवार को निकलकर सामने आई है। मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) ने शेयर बाजारों को दी सूचना में कहा कि कंपनी ने सितम्बर महीने में 1,32,199 इकाइयों का उत्पादन किया, जबकि एक साल पूर्व इसी महीने में ये संख्या 1,60,219 इकाई थी। हालांकि, अगस्‍त की तुलना में कंपनी का उत्‍पादन सुधरा है। मारुति ने उस दौरान कुल 1,11,370 वाहनों का उत्पादन किया था। पिछले महीने यात्री वाहनों का उत्पादन सालाना आधार पर 17.37 फीसदी घटकर 1,30,264 इकाई रहा, जबकि, सितंबर 2018 में यह संख्या 1,57,659 इकाई थी। 

मंदी का असर हर सेग्‍मेंट और दूसरी कंपनियों पर
उल्‍लेखनीय है कि कंपनी की आल्टो, न्यू वैगनआर, सिलेरियो, इगनिस, स्विफ्ट, बालेनो और डिजायर समेत छोटी एवं काम्पैक्ट खंड की कारों का उत्पादन सितंबर महीने में 98,337 इकाई रहा, जो पिछले साल इसी महीने में 1,15,576 इकाई था। वहीं, टाटा मोटर्स के यात्री वाहनों का उत्पादन भी इस साल सितंबर में 63 फीसदी घटकर 6,976 इकाई रहा, जो पिछले साल इसी महीने 18,855 इकाई था। मारुति सुजुकी, हुंडई, महिंद्रा एंड महिंद्रा, टाटा मोटर्स, टोयोटा और होंडा समेत सभी बड़ी वाहन कंपनियों की घरेलू बिक्री में दहाई अंक में गिरावट दर्ज की गई। गौरतलब है कि त्‍योहारी सीजन शुरू होने के बावजूद वाहनों की मांग सुस्त है। सितम्बर में ऑटो कंपनियों के बिक्री का डाटा भी उम्मीद से कमजोर रहा है।

हिन्‍दुस्‍थान समाचार


 
Top