राष्ट्रीय

Blog single photo

महाभारत की धरा से देंगे पूरी दुनिया को पोलीथिन मुक्त का संदेश.

08/11/2019

-गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज कराने के लिए 90 हजार पोलीथिन से बनाया जाएगा कछुआ का स्ट्रक्चर 
-कुरुक्षेत्र की पर्यावरणविद् डॉ. ऋतु शर्मा तीन महीने से कर रही हैं वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने की कवायद

वेदपाल
चंडीगढ़, 08 नवम्बर (हि.स.)। बेशक आज हम प्लास्टिक यानि पोलीथिन का प्रयोग आसानी से कर रहे हैं, लेकिन यह प्रयोग आने वाली पीढ़ियों की स्वच्छ आबोहवा को जहरीला कर देगा। भारत को प्लास्टिक मुक्त करने का आह्वान खुद प्रधानमंत्री कर चुके हैं, इसके बावजूद पोलीथिन का प्रयोग धड़ल्ले से जारी है। अब महाभारत की धरा गीता स्थली से पूरी दुनिया को प्लास्टिक मुक्त का संदेश देने के साथ वर्ल्ड रिकार्ड भी कायम किया जाएगा।
कुरुक्षेत्र ब्रह्मसरोवर के उर्वशी घाट पर 90 हजार पोलीथिन से कछुआनुमा स्ट्रक्चर तैयार किया जाएगा, जिसे गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड में भी दर्ज कराया जाएगा। देश में पहली बार एकसाथ 90 हजार से ज्यादा पोलीथिन (प्रयोग किए हुए) एकत्रित करके ऐसा स्ट्रक्चर तैयार किया जा रहा है। इससे पहले केवल 60 हजार पोलीथिन से केवल सिंगापुर में आक्टोपस का स्ट्रक्चर तैयार किया गया था। 
देश के लिए नए वर्ल्ड रिकार्ड को कायम करने के लिए कुरुक्षेत्र की पर्यावरणविद् डॉ. ऋतु शर्मा पिछले छह महीने से जद्दोजहद में जुटी हुई हैं। अब 12 नवम्बर को कछुआनुमा स्ट्रक्चर को 90 हजार से ज्यादा पोलीथिन से तैयार किया जाएगा।
पर्यावरणविद् डॉ. ऋतु शर्मा ने बताया कि उन्होंने फरवरी माह में प्लास्टिक बैग स्ट्रक्चर प्रोजेक्ट का गिनीज बुक रिकार्ड में आवेदन किया। स्ट्रक्चर का उद्देश्य है बीट द प्लास्टिक पोल्यूशन। मई माह में उसके प्रोजेक्ट को स्वीकृति मिली। 
हर घर से लेकर मंडियों तक से एकत्रित किए पोलीथिन 
डॉ. ऋतु ने बताया कि मई महीने में उसके प्रोजेक्ट को स्वीकृति मिलने के बाद उसने प्रयोग किए गए पोलीथिन को एकत्रित करने की कवायद शुरू की। शुरूआती दौर में सब्जी मंडियों व सड़कों से पोलीथिन को एकत्रित किया। इसके बाद स्कूली विद्याथियों से संपर्क साधा और जिला सूचना एवं विज्ञान केंद्र कार्यालय में सक्षम युवाओं की टीम से पोलीथिन को एकत्रित करना शुरू किया। पिछले छह महीने से एकत्रित पोलीथिन की 9 नवम्बर को दो चरणों में गिनती की जाएगी।
ऋतु का कहना है कि सिंगापुर के आक्टोपस के बाद नेपाल ने एक लाख पोलीथिन से रिकार्ड बनाने की कोशिश की थी, जिसमें वह नेपाल की कोशिश नाकाम रही। 
12 को होगा गिनीज वर्ल्ड रिकार्ड कार्यक्रम : सिंगला 
सूचना एवं विज्ञान केंद्र के जिला अधिकारी विनोद सिंगला का कहना है कि 12 नवम्बर को वर्ल्ड रिकार्ड कायम करने के लिए कछुआनुमा स्ट्रक्चर तैयार किया जाएगा। इस स्ट्रक्चर की ऊंचाई 14 फीट होगी, जबकि लंबाई-चौड़ाई 24 फीट होगी। इस स्ट्रक्चर को तैयार करके ब्रह्मसरोवर के उर्वशी घाट पर रखा जाएगा, जो पूरी दुनिया को प्लास्टिक मुक्त का संदेश देगा। यह गीता जयंती से लेकर सूर्य ग्रहण मेले तक उर्वशी घाट पर रखा रहेगा, इसके बाद इस दिल्ली में भेजा जाएगा।
पिता की कैंसर से मृत्यु के बाद प्लास्टिक मुक्त की ठानी 
डॉ. ऋतु शर्मा का कहना है कि उसके पिता की कैंसर से वर्ष 2017 में मौत हो गई थी। इसके बाद उसने कैंसर को लेकर स्टडी की और पाया कि पोलीथिन सबसे बड़ा फैक्टर है। इसलिए उसने पोलीथिन के प्रति लोगों को जागरूक करने की ठानी और प्रोजेक्ट तैयार किया। प्रोजेक्ट की अनुमति मिलने के बाद उसने वर्ल्ड रिकार्ड की कवायद शुरू की।
हिन्दुस्थान समाचार


 
Top