क्षेत्रीय

Blog single photo

आत्मकुरु जाने से रोकन के लिये नायडू हाउस अरेस्ट व कई नेता पुलिस के हिरासत में

11/09/2019

नागराज  राव
अमरावती (आंध्र प्रदेश), 11 सितम्बर (हि.स.)। राज्य की विपक्षी तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) ने अपने कार्यकर्ताओं के उत्पीड़न के खिलाफ आंदोलन छेड़ दिया है। वाईएसआर कांग्रेस पार्टी और राज्य सरकार पर आरोप लगाते हुये टीडीपी प्रमुख व पूर्व मुख्यमंत्री चन्द्रबाबू नायडू ने 'चलो आत्मकुरु' का आवाहन किया है। इस देखते हुये राज्य सरकार सतर्क है। पुलिस ने कई स्थानोंं पर घेराबंदी कर टीडीपी कार्यकर्ता रोक दिया है। टीडीपी के कई नेता व पूर्व मंत्रियों को विजयवाड़ा में ही हिरासत में ले लिया गया है। पूर्व मुख्यमंत्री नायडू और उनके बेटे लोकेश नारा को घर पर ही हाउस अरेस्ट कर उनके घर से बाहर निेकलने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। इस बीच, आंध्र प्रदेश के पुलिस महानिदेशक गौतम सवांग ने विभिन्न क्षेत्रों में धारा 144 लागू करने की घोषणा करने के साथ बगैर पूर्व अनुमति के जुलूस, धरना व प्रदर्शन नहीं करने के स्पष्ट आदेश जारी किए हैं।

विजयवाड़ा शहर और अमरावती के उंडावल्ली में पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू के आवास के बाहर कार्यकर्ताओं की भारी भीड़ उमड़़ी़ है। इससे वहां तनावपूर्ण माहौल बना हुआ है। मौके पर पुलिस भी बड़ी संख्या में तैनात है।टीडीपी नेता सुबह 9 बजे आत्मकुरु के लिए रवाना होने की तैयारी में थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें नहीं जाने दिया। बुधवार को सुबह पुलिस के दो वरिष्ठ अधिकारी, पुलिस अधीक्षक विक्रांत पटेल और सीनियर एसएसपी रामकृष्ण विपक्ष नेता चंद्रबाबू के आवास पर पहुंचे और ताज़ा समाचार मिलने तक उनके काफिला को आत्मकूर जाने से रोके रखा। आवास के गेट को रस्सी से बांध कर पुलिस ने कार्यकर्ता को भी उनसे मिलने की अनुमति नहीं दी। पुलिस की चेतावनी की परवाह किए बिना टीडीपी कार्यकर्ता और चंद्रबाबू नायडू घर से बाहर निकलने की कोशिश कर रहे हैं। पुलिस ने चंद्रबाबू नायडू के आवास के पास सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। 

इस बीच सत्तापक्ष के नेता और वाईएसआरसीपी के विधायक अंबाटी रामबाबू के आरोप लगाया कि तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) नेताओं के हंगामे के कारण पलनाडु क्षेत्र में तनाव जैसी स्थिति बनी हुई है। शांतिपूर्ण माहौल को बिगाड़ने की चंद्रबाबू नायडू की कोशिशों की वजह से क्षेत्र के लोग काफी डरे हुये हैं। उन्होंने कहा कि आंध्र प्रदेश सरकार पर कीचड़ उछालने की साजिश के तहत चंद्रबाबू नायडू ने 'चलो आत्मकुरु' का आह्वान किया है। अंबाटी ने कहा कि कानून-व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए पुलिस ने एहतिहात के तहत धारा 144 लागू कर दी है। सत्तापक्ष के अन्य एक नेता ने बताया कि पुलिस ने टीडीपी नेताओँ व कार्यकर्ताओं को समझाने की कोशिश की, लेकिन नारा लोकेश सहित कुछ अन्य नेता उससे वादविवाद पर उतर आये। मीडिया से वार्ता में विपक्ष के नेता बाबू ने कहा कि आंध्र प्रदेश सरकार ने गुंडाराज का परिचय दिया है और पुलिस मनमानी करते उनके आवास में सफाई कर्मचारी को भी रोका है। विजयवाड़ा शहर में टीडीपी के विधायक दल के नेता  अच्चेन्नायडू और महिला आयोग की पूर्व चेयरपर्सन नन्नपनेनी राजकुमारी को को हिरासत में ले लिया गया है।

उल्लेखनीय है कि टीडीपी प्रमुख नायडू ने वाईएसआरसीपी और सरकार पर टीडीपी कार्यकर्ताओं के उत्पीड़न का आरोप लगाते हुये गुंटूर ज़िले के आत्मकूर में उनके पार्टी कार्यकर्ता का शिविर आयोजित किया था, जिन पर हमला हुआ था।  नायडू इन पीड़ितों से मिलकर संवेदना व्यक्त करने वाले थे।  
हिन्दुस्थान समाचार 


 
Top