युगवार्ता

Blog single photo

तूफान और सुनामी से पहले कारगर सूचना

28/10/2019

तूफान और सुनामी से पहले कारगर सूचना

आपदा संबंधी चेतावनी के लिए आपातकालीन जानकारी और संचार तथा समुद्री राज्यों में मछली संभावित जोन (पीएफजेड) के लिए केंद्र सरकार ने गगन आधारित समुद्री संचालन और जानकारी उपकरण (जैमिनी) का शुभारंभ किया। यह उपग्रह पर आधारित संचार प्रणाली आपात स्थिति में चक्रवाती तूफान, ऊंची लहरों और सुनामी से निपटने के लिए जानकारी प्रदान करने में सहायता देगी। जहां पीएफजेड समुद्र में मछुआरों को मछली की जानकारी देगी। वहीं ओएसएफ समुद्र की वास्तविक स्थिति राज्यों को बताएगी।
इससे अब समुद्री राज्य भविष्यवाणी (ओएसएफ) में अगले पांच दिनों के लिए दैनिक आधार पर हर छह घंटे में हवा, समुद्री करंट, पानी के तापमान आदि पर भविष्यवाणी सम्मिलित है। इसकी कमी पिछले वर्षों में आए कई चक्रवाती तूफान के दौरान महसूस की गई। ऐसे में इस समस्या से निपटने के लिए भारतीय राष्ट्रीय महासागर सूचना सेवा केन्द्र ने एएआई के साथ सहयोग कर गगन उपग्रह प्रणाली का उपयोग कर मछुआरों को पीएफजेड, ओएसएफ और आपदा चेतावनी देने का काम शुरू किया।
जैमिनी उपकरण गगन सेटेलाइट से प्राप्त डाटा को ब्लूटूथ कम्युनिकेशन द्वारा मोबाइल में प्राप्त किया जा सकता है। भारतीय राष्ट्रीय महासागर सूचना सेवा केन्द्र द्वारा विकसित मोबाइल एप्ली्केशन से इस सूचना को नौ क्षेत्रीय भाषाओं में प्रदर्शित है।


 
Top