राम जन्मभूमि

Blog single photo

राममंदिर का सपना साकार होने पर मंदिरों में शुरू हुई विशेष प्रकार की पूजा

05/08/2020

-बांके बिहारी मंदिर में विराजमान रामजानकी और लक्ष्मण की मूर्तियों की हुई आरती
-रामायण का पाठ भी शुरू, रामभक्तों में उमड़ा उत्साह, जय श्रीराम के लगाये नारे

हमीरपुर, 05 अगस्त (हि.स.)। अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण का सपना बुधवार को साकार होने पर यहां जनपद के ऐतिहासिक मंदिरों में पूजन पाठ कर सामाजिक दूरी के बीच धार्मिक अनुष्ठान शुरू कर दिया गया है। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के राममंदिर निर्माण के लिये शिला पूजा करने पर रामभक्तों ने जय श्रीराम के नारे लगाये है। लोग शंख और घड़ियाल भी बजाकर श्रीराम का जय उद्घोष कर रहे हैं। 

अयोध्या में सैकड़ों साल बाद श्रीराम मंदिर निर्माण का आगाज भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वैदिक विधि-विधान से किया। इसे टीवी में जहां हजारों लोग देखकर जय श्रीराम के नारे लगा रहे हैं वहीं मुस्कराते रहे। क्षेत्र के गहरौली गांव में सैकड़ों साल पुराने ऐतिहासिक बांके बिहारी मंदिर में विराजमान श्रीराम जानकी और लक्ष्मण की मनोहारी मूर्तियों को स्नान कराकर पूरे विधि विधान से पूजा अर्चना की गई। मंदिर के पुजारी विष्णुकांत दीक्षित ने अयोध्या में राममंदिर के निर्माण का सपना साकार होने पर धार्मिक अनुष्ठान करा रहे है। 

कार्यक्रम में विमल गुरुदेव के पुत्र नवोदित गुरुदेव यजमान के रूप में पूजा अर्चना कर रहे है। वहीं राममंदिर निर्माण का सपना आज साकार होने की खुशी में यहां मंदिर में श्रीराम चरित मानस का अखंड पाठ भी किया जा रहा है। राजा भइया दीक्षित, श्रीमती कमलेश गुरुदेव, अजय गुरुदेव, दीशांत पाण्डेय, प्रीतू, नितिन गुरुदेव, रघुवंश दीक्षित समेत अन्य रामभक्त पूजन पाठ में शामिल है। 

मंदिर के पुजारी ने बताया कि ये मंदिर अंग्रेजों के समय स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के लिए शरण स्थली रहा है। अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ इसी मंदिर से विद्रोह की तानाबाना बुना गया था। पुजारी ने बताया कि देश के प्रधानमंत्री ने आज करोड़ों लोगों की आस्था की श्रीराम जन्मभूमि में भगवान राम के मंदिर के निर्माण की नींव रखकर पूरे भारत को धन्य कर दिया है। इसी खुशी में यहां मंदिर में अखंड रामायण का पाठ और अन्य धार्मिक अनुष्ठान कराये जा रहे है। 

उन्होंने बताया कि पूरे क्षेत्र में रामभक्त श्रीराम का जय उद्घोष कर रहे है। शाम को मंदिर में एक सौ आठ दीये जलाकर आज के दिन को ऐतिहासिक बनाया जायेगा। मंदिर के प्रमुख राजा भइया ने बताया कि कोरोना संक्रमण के चलते लोगों में राम मंदिर के निर्माण को लेकर खुशी है। सामाजिक दूरी के बीच लोगों ने मास्क पहनकर पूजा अर्चना कर रहे है। सुमेरपुर कस्बे में भी शिव मंदिर में रामभक्त अखंड रामायण का पाठ कर रहे है। रामभक्तों में उत्साह देखा जा रहा है। विदोखर गांव में भी प्राचीन राम मंदिर में विशेष प्रकार की पूजा अर्चना का दौर जारी है। 

रामजानकी मंदिर में भी शुरू हुयी विशेष प्रकार की पूजा

मौदहा क्षेत्र के खंडेह गांव में ऐतिहासिक रामजानकी मंदिर में आज सुबह विशेष प्रकार की पूजा शुरू हुयी जो शाम तक चलेगी। मंदिर के प्रमुख प्रद्युम उर्फ लालू दुबे ने बताया कि अयोध्या में श्रीराम मंदिर के निर्माण का सपना सैकड़ों सालों बाद साकार हो गया है इसकी खुशी में यहां सुन्दरकांड और अन्य पूजा पाठ हो रही है। शाम को मंदिर और गांव में शंख घडिय़ाल बजाकर रामभक्त जय श्रीराम का उद्घोष करेंगे।

फिल्म कलाकार के गांव में भी बजाये गये शंख घड़ियाल

अयोध्या में श्रीराम के मंदिर के निर्माण का आगाज होते ही कुरारा क्षेत्र के मनकी खुर्द गांव में रामभक्त से खुशी से झूम उठे है। कोरोना संक्रमण काल में कई महीनों से यहां गांव आये फिल्मी युवा कलाकार सोमेन्द्र कुमार ने अपने परिवार और गांव के लोगों के साथ शंख घड़ियाल बजाकर श्रीराम का जय उद्घोष किया है। महिलाओं ने भी मोदी के समर्थन में नारे लगाये है। सोमेन्द्र कुमार ने बताया कि आज का दिन अब ऐतिहासिक हो गया है। भगवान श्रीराम पूरे राष्ट्र के लिए स्वाभिमान है और आज मोदी ने करोड़ों हिन्दुओं का सपना साकार कर दिया है। शाम को गांव में दीये जलाकर जय उद्घोष किया जायेगा।

हिन्दुस्थान समाचार/पंकज/राजेश


 
Top