क्षेत्रीय

Blog single photo

अब गाजियाबाद प्राधिकरण में छह सौ वर्ग मीटर से बड़े नक्शे भी ऑनलाइन पास होंगे

11/09/2019

अब गाजियाबाद प्राधिकरण में छह सौ वर्ग मीटर से बड़े नक्शे भी ऑनलाइन पास होंगे 

- जीडीए के प्लानिंग विभाग के अधिकारियों के दिया जा रहा प्रशिक्षण 


गाजियाबाद, 11 सितम्बर (हि.स.)। 
गाजियाबाद में अब बिल्डरों को मकान का नक्शा स्वीकृत कराने के लिए जीडीए के चक्कर नहीं लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। अब तीन सौ वर्ग मीटर से ऊपर के भी नक्शे प्राधिकरण ऑनलाइन 60 दिन में स्वीकृत करेगा। साथ ही जीडीए में तीन सौ वर्गमीटर से ऊपर के नक्शों के मैनुअल आवेदन लेने पर तत्काल रोक लगा दी गई है। शासन इस प्रक्रिया को जल्द ही अब ऑनलाइन करने जा रहा है।

बुधवार से सभागार में प्लानिंग विभाग के अधिकारियों को नक्शे का ऑनलाइन आवेदन करने की ट्रेनिंग शुरू कर दी गई है। शासन ने सॉफ्टवेयर बनाने वाले इंजीनियरों को प्रशिक्षण के लिए नियुक्त किया है। जीडीए के अधिकारियों को ट्रेनिंग दी जाएगी। उसके बाद जीडीए में पंजीकृत आर्किटेक्ट को ट्रेनिंग दी जाएगी। सॉफ्टवेयर
बनाने वाली कंपनी का एक इंजीनियर 5 साल तक के लिए जीडीए में तैनात रहेगा। वह तकनीकी खामी दूर करने में अधिकारियों की मदद करेगा। 

जीडीए वीसी कंचन वर्मा ने बुधवार को बताया कि इससे कामकाज में पारदर्शिता आएगी। शासन ने बड़े नक्शों के लिए मैनुअल आवेदन पर रोक लगा दी है। भविष्य में नक्शा प्रक्रिया ऑनलाइन होने के बाद ही आवेदनों को स्वीकार किया जाएगा । जीडीए उपाध्यक्ष कंचन वर्मा ने बताया कि तीन वर्ग मीटर से कम क्षेत्रफल के भवनों का स्टैंडर्ड नक्शा होता है। नक्शे पहले से ऑनलाइन स्वीकृत हो रहे हैं। शासन ने अब बड़े नक्शों को ऑनलाइन स्वीकृत करने के लिए सॉफ्टवेयर तैयार कराया है। 15 सितम्बर तक सॉफ्टवेयर को नक्शा स्वीकृति के लिए बनी वेबसाइट से जोड़ दिया जाएगा। उसके बाद बड़े नक्शे स्वीकृत कराने के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा। सॉफ्टवेयर ही बिल्डिंग बायलॉज के
अनुसार नक्शे का परीक्षण करेगा। सही होने पर स्वीकृत करेगा। खामी होने पर रिजेक्ट करके रिपोर्ट आवेदनकर्ता
और जीडीए को भेज देगा। इस प्रक्रिया में कोई हस्तक्षेप नहीं होगा। बड़े नक्शों के आवेदन अब मैनुअल नहीं लिए जाएंगे। पहले के आवेदनों की जांच चार दिन में पूरी कर
नक्शा स्वीकृति पर निर्णय लिया जाए।
इतने समय में जांच संभव नहीं होने पर आवेदनों को वापस कर दिया जाए। शासन के निर्देश पर अब बड़े नक्शों के आवेदन लेने पर रोक लगाई गई। 

हिन्दुस्थान समाचार/फरमान/सुनीत 


 
Top