लेख

Blog single photo

इस बार ऐतिहासिक होगी बापू की जयंती

27/09/2019

(महात्मा गांधी की 150वीं जयन्ती पर विशेष)

डॉ. दिलीप अग्निहोत्री

स बार का दो अक्टूबर विशेष होगा। उस दिन महात्मा गांधी की 150वीं जन्म जयंती है। केंद्र व उत्तर प्रदेश सरकार इसे ऐतिहासिक बनाने की योजना तैयार कर चुकी है। उत्तर प्रदेश विधानसभा उस दिन विशेष अधिवेशन आयोजित करेगी। उसमें लगातार 48 घंटे तक चर्चा के माध्यम से इतिहास रचा जाएगा। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी देश में ऐतिहासिक आयोजनों के संबन्ध में योजना बनाई है।
उत्तर प्रदेश विधानसभा महात्मा गांधी की 150वीं जयन्ती पर संयुक्त राष्ट्र द्वारा स्वीकृत समन्वित विकास के लक्ष्यों पर लगातार 48 घंटे विचार-विमर्श करेगी। यह ऐतिहासिक सत्र होगा। इसके मध्य कोई अवकाश नहीं होगा। विधानसभा के विशेष सत्र का निर्णय विधानसभा अध्यक्ष  हृदयनारायण दीक्षित की अध्यक्षता में सभी दलों के नेताओं द्वारा सर्वसम्मति से लिया गया। हृदयनारायण दीक्षित ने कहा कि महात्मा गांधी की 150वीं जयन्ती के अवसर पर संयुक्त राष्ट्र संघ के 17 सतत विकास के लक्ष्यों की पूर्ति के लिए बुलाया गया सत्र अत्यन्त महत्वपूर्ण एवं ऐतिहासिक होगा। ऐसे सत्र का आयोजन प्रदेश में पहली बार हो रहा है। इसमें गरीबी, कुपोषण, शिक्षा, पर्यावरण आदि पर मंथन करने का अवसर प्राप्त होगा। सतत विकास के लक्ष्यों को वर्ष 2030 तक पूर्ण करने के लिए समीक्षा हेतु विधानसभा के स्तर पर एक समिति के गठन किये जाने हेतु चर्चा होगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र द्वारा घोषित सस्टेनेबुल डेवलपमेंट गोल्स समेकित विकास के लक्ष्य पर भारत समेत 107 देशों ने हस्ताक्षर किए थे। उन लक्ष्यों में प्रमुख रूप से गरीबी दूर करना, स्त्री-पुरुष की असमानता को दूर करना, कुपोषण, सबके लिए स्वास्थ्य, सबके लिए ऊर्जा, सबके लिए शिक्षा, पोषण, पेयजल आदि लक्ष्य तय किये गये थे। यह विषय अधिकांश देशों के मुख्य एजेण्डे में है। केन्द्र व उत्तर प्रदेश सरकार इन लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए प्रतिबद्ध है। गांधीजी ने इस देश में समाज के सबसे नीचे के पायदान पर स्थित व्यक्ति के जीवन स्तर के उन्नयन का सपना देखा था। गांधी जयंती के अवसर पर संयुक्त राष्ट्र संघ के सतत विकास के लक्ष्यों पर चर्चा की जाएगी। सभी सदस्यगण प्रदेश सहित अपने-अपने क्षेत्र में सतत विकास के लक्ष्य के अन्तर्गत गरीबी, पर्यावरण, आर्थिक असमानता, ऊर्जा, शिक्षा, जलवायु परिवर्तन आदि विषयों पर चर्चा करेंगे। साथ ही, वे अपने बहुमूल्य सुझाव भी देंगे। विकास के इन लक्ष्यों की पूर्ति के लिए प्रदेश सरकार ने काफी कुछ किया है। यह क्रम जारी है। सदन में प्रत्येक क्षेत्र की समस्याएं विधायकों के माध्यम से आ सकेंगी। इस बैठक में मंत्री, दलीय नेता व सदस्य अपने विचार रखेंगे। जो सदस्य विधानसभा में नहीं बोल पाए हैं, उन्हें भी सतत विकास से सम्बन्धित अपने क्षेत्र की समस्याओं के विषय में सदन में विचार प्रस्तुत करने का अवसर मिलेगा। उत्तर प्रदेश विधानसभा देश को नया संदेश देगी। इसकी कार्यवाही की बुकलेट लोकसभा सहित सभी विधानसभाओं को भेजी जाएगी। 
उधर, भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने प्रदेश पदाधिकारियों एवं सांसदों के साथ वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से संवाद कर गांधी जयंती पर देशभर में आयोजित होने वाली संकल्प यात्रा को सफल बनाने को कहा है।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने फिट इंडिया और सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्त भारत के निर्माण का आह्वान किया था। पार्टी ने इस अभियान को सफल बनाने और बापू के आदर्शों को जन-जन तक पहुंचाने के लिए कई कार्यक्रमों का आयोजन किया है। भारतीय जनता पार्टी देश में 2 अक्टूबर से 31 अक्टूबर तक गांधी संकल्प यात्रा का आयोजन कर रही है। इसके तहत समाज के सभी वर्गों तक जनसंपर्क, स्वच्छ भारत अभियान, दौरा, जन-सभा, स्वदेशी हाट, प्रेस वार्ता और प्रभातफेरी जैसे कई कार्यक्रम होंगे। इन कार्यक्रमों में सभी सांसद, विधायक, एमएलसी, जिला अध्यक्ष एवं राष्ट्रीय, प्रदेश पदाधिकारी शामिल होंगे। इन कार्यक्रमों का मुख्य उद्देश्य स्वदेश, स्वराज, स्वावलंबन, खादी और सादगी के सिद्धांतों को बढ़ावा देना है। 2 अक्टूबर को भाजपा के पदाधिकारी और जनप्रतिनिधि अपने-अपने क्षेत्रों में दौरा करेंगे और कम से कम दो किलोमीटर क्षेत्र को कवर करते हुए इसे प्लास्टिक मुक्त बनाने का कार्य करेंगे। इसके अलावा सामाजिक बुराइयों और कुरीतियों, बिना काम का धन, विवेकरहित खुशी, बिना चरित्र के ज्ञान, नैतिकता के बिना व्यापार, त्याग के बिना धर्म, मानवता के बिना विज्ञान और सिद्धांत के बिना राजनीति के दूषणों को मुक्त करते हुए बापू की स्मृति एवं उनके सिद्धांतों को शाश्वत बनाने पर विस्तार से चर्चा की जाएगी। शाह ने कहा कि जिस विधानसभा अथवा लोकसभा में भारतीय जनता पार्टी का प्रतिनिधित्व नहीं है, उन क्षेत्रों में भी ये कार्यक्रम उतने ही अच्छे तरीके से होना चाहिए। इसके अतिरिक्त स्कूल, कॉलेजों में गांधीजी के ऊपर प्रतियोगिताएं, बापू की कहानी, मशहूर हस्तियों की जुबानी, गांधीवाद पर चर्चा और खादी महोत्सव की प्रतियोगिताएं भी आयोजित की जाएंगी। गांधी संकल्प यात्रा का शुभारम्भ प्रधानमंत्री नरेन्द्र  मोदी करेंगे। वह बापू की समाधि पर श्रद्धांजलि देने जाएंगे। जनप्रतिनिधि अपने-अपने क्षेत्रों में पन्द्रह दिन की पदयात्रा के कार्यक्रम करेंगे। इसमें स्वच्छता, खादी, सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्ति और पौधारोपण आदि कार्यक्रमों के जरिये महात्मा गांधी के सिद्धांतों को जन-जन तक पहुंचाएंगे। गांवों में देश के नवनिर्माण के प्रति समर्पित देशभक्तों की टोली तैयार की जाएगी।
(लेखक स्वतंत्र टिप्पणीकार हैं।)


 
Top