अंतरराष्ट्रीय

Blog single photo

दक्षिण कैलिफ़ोर्निया: चार दिवसीय संघ शिक्षा वर्ग उत्साहपूर्वक सम्पन्न

08/07/2019

ललित बंसल
लॉस एंजेल्स, 08 जुलाई (हि.स.)। हिन्दू स्वयंसेवक संघ, अमेरिका के राष्ट्रीय सम्पर्क प्रमुख महेश कल्ला ने संघ के स्वयंसेवकों का आह्वान किया कि वे इस संघ शिक्षा वर्ग के समापन पर अपने-अपने घर लौटें, तो लोकमन संस्कार रूपी औषध से लोगों को जोड़ने का प्रयास करें। उन्होंने कहा कि लोकमन संस्कार एक अनवरत साधना है और स्वयंसेवकों का यह दायित्व है कि वे भारत से हजारों मील दूर रहते हुए मानव कल्याण को ध्यान में रखते हुए समाज को संस्कारित करें।
अमेरिका में स्वाधीनता दिवस की लंबी छुट्टियों के मद्देनजर देश के विभिन्न भागों में हिन्दू स्वयंसेवक संघ के क्षेत्रीय आधार पर चार दिवसीय संघ शिक्षा वर्ग आयोजित किए गए। अमेरिका के 28 राज्यों में करीब 260 शाखाएं हैं, जिसमें बाल, तरुण, महिला एवं पुरुष भाग लेते हैं।



दक्षिण कैलिफ़ोर्निया के ब्रेआ उपनगर में भारत सेवाश्रम संघ के विशाल प्रांगण में आयोजित चार दिवसीय संघ शिक्षा वर्ग बड़े उल्लास के साथ रविवार को सम्पन्न हुआ।
इस शिविर में सैन डीएगो, अरवाइन, टेम्पल सिटी और लॉस एंजेल्स सहित आस-पास की काउंटियों के करीब एक सौ बाल, तरुण और महिलाओं ने भाग लिया।



इस अवसर पर अमेरिका के संघचालक डॉक्टर विनोद अंबास्था, संभाग संघचालक राजकुमार भाटिया सहित अनेक संघ अधिकारी और इन शहरों के गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।
शिविर में स्वयंसेवकों को दंड, चाप, योग और आत्मसुरक्षा की विभिन्न कलाओं का प्रशिक्षण दिया गया। इस अवसर पर प्रोफ़ेसर सुनील कुमार ने अमेरिकी और भारतीय मूल्यों के परस्पर संबंधों पर बौद्धिक विशेष रूप से चर्चित रहा। 


फ़िलाडेल्फ़िया से विशेष रूप से आए महेश कल्ला ने कहा कि हिन्दू सभ्यता और दर्शन प्राचीन है। इसमें 'वसुधैव क़ुटुम्बकम' की अवधारणा समाहित है। हमारे ऋषियों और मनीषियों ने इसे सिंचित किया है। आज संघ उसी काम को लेकर आगे बढ़ रहा है। आज ज़रूरत इतनी है कि स्वयंसेवक अच्छे लोगों को संगठित करे, सही अर्थों में हिन्दू बनाएं और उनका लोकमन संस्कार की औषधि से उपचार करे। 

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top